डूसू चुनाव: EVM से डेटा गायब करने का आरोप, हाइकोर्ट ने इस्तेमाल EVM सुरक्षित रखने का आदेश दिया।

दिल्ली हाई कोर्ट ने एनएसयूआई के कैंडिडेट्स द्वारा डूसू चुनावों पर सवाल उठाते हुए दाखिल की गई याचिका पर प्राइवेट ईवीएम के केंद्र सरकार, दिल्ली विश्वविद्यालय, डूसू अध्यक्ष और एबीवीपी के तीन उम्मीदवारों से जवाब मांगा है। कोर्ट ने साथ ही डीयू द्वारा नियुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी को आदेश दिया कि डूसू के चुनावों में इस्तेमाल की गई इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को ताला लगा कर पूरी तरह सुरक्षित रखा जाए। मामले की अगली सुनवाई 29 अक्टूबर को होगी।

जस्टिस सिद्धार्थ मृदुल ने कहा कि एवीएम के अतिरिक्त पेपर ट्रेल और अन्य दस्तावेजों को भी सुरक्षित रखा जाए। एनएसयूआई के तीन उम्मीदवार सनी छिल्लर, मीना और सौरभ यादव ने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए हाई कोर्ट में चुनाव को चुनौती दी थी। याचिका में मांग की गई थी कि डूसू चुनाव में इस्तेमाल ईवीएम को सुरक्षित रखा जाए ताकि वह गुम न हो जाएं। उन्होंने आरोप लगाया कि सात ईवीएम के डेटा गायब हो गए।