राफेल डील के खिलाफ दाखिल पीआईएल पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टली, 10 अक्तूबर को होगी सुनवाई

भारत और फ्रांस के बीच राफेल विमान डील को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टल गई है। सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई दस अक्तूबर को करेगा। मंगलवार को सुनवाई के दौरान जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस नवीन सिन्हा और जस्टिस के एम जोसेफ की पीठ ने याचिकाकर्ता एम एल शर्मा की सुनवाई टालने की अर्जी पर ये कदम उठाया।

हालांकि जस्टिस रंजन गोगोई ने याचिकाकर्ता से कहा कि सुनवाई टालने का जो लैटर उन्होंने भेजा है उसमें कारण बताया है कि वो बीमार हैं। लेकिन वो खुद कोर्ट में मौजूद हैं। इस पर याचिकाकर्ता शर्मा ने कहा कि वो अतिरिक्त दस्तावेज का हलफनामा भी दाखिल करना चाहते हैं।

दरअसल राफेल डील को लेकर दायर याचिका में एम एल शर्मा ने फ्रांस के साथ लड़ाकू विमान सौदे में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। याचिका में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पहला प्रतिवादी बनाया गया है जबकि पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर व अन्य को भी प्रतिवादी बनाया गया है। सुप्रीम कोर्ट में जो याचिका दाखिल की गई है, उसमें डील को रद्द करने और मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की मांग की गई है। याचिका में कहा गया है कि दो देशों के बीच हुई इस डील से भ्रष्टाचार हुआ है और ये रकम इन्हीं लोगों से वसूली जाए क्योंकि ये अनुच्छेद 253 के तहत संसद के माध्यम से नहीं की गई है।