मोदी का 35 हवाई अड्डे बनाने का दावा: विमानन मंत्रालय बता रहा केवल 4

नागरिक उड्डयन मंत्रालय के तहत आने वाले एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की 2013-14 की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार 2014 तक देश में कुल 125 हवाई अड्डे थे। इनमें से 68 हवाई अड्डे संचालन में थे और 26 सिविल एन्क्लेव थे।प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार (24 सितंबर) को सिक्किम की राजधानी गंगटोक से करीब 30 किलोमीटर दूर पाकयोंग में राज्य के पहले ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे का उद्घाटन किया था।सोमवार (24 सितंबर) को पीएम नरेंद्र मोदी जब सिक्किम के पाकयोंग में हवाई अड्डे का उद्घाटन कर रहे थे तब उन्होंने दावा किया था कि अब देश में हवाई अड्डों की संख्या बढ़कर 100 हो गई है।

पीएम ने दावा किया था कि उनकी सरकार ने पिछले चार साल में देशभर में कुल 35 हवाई अड्डे बनाए हैं। इससे पहले आजादी से लेकर 2014 तक देशभर में मात्र 65 हवाई अड्डे थे। पीएम के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी इस दावे को शेयर भी किया गया लेकिन एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की रिपोर्ट कुछ और कहती है। इस रिपोर्ट के मुताबिक चार साल में केवल चार नए हवाई अड्डे बने हैं। यही नहीं रिपोर्ट के मुताबिक 2013-14 में ही देश में कुल 125 हवाई अड्डे थे। ऐसे में यह सवाल उठा रहा है कि सच क्या है?

नागरिक उड्डयन मंत्रालय के तहत आने वाले एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की 2013-14 की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार 2014 तक देश में कुल 125 हवाई अड्डे थे। इनमें से 68 हवाई अड्डे संचालन में थे और 26 सिविल एन्क्लेव थे। सिविल एन्क्लेव का मतलब जहां से सेना के विमान उड़ान भरते हैं और उतरते हैं। यानी 2014 तक देश में कुल 94 हवाई अड्डे काम कर रहे थे। इनके अलावा 31 नॉन-ऑपरेशनल एयरपोर्ट थे। मोदी सरकार के कार्यकाल यानी वित्तीय वर्ष 2017-18 की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक देश में कुल 129 हवाई अड्डे हैं, इनमें से 23 अंतरराष्ट्रीय, 78 घरेलू, 8 कस्टम और 20 सिविल एन्क्लेव हवाई अड्डे हैं। संसद के मानसून सत्र में भी एक सवाल के जवाब में नागरिक उड्डयन मंत्री ने 19 जुलाई को लोकसभा में बताया था कि देश में कुल 129 हवाई अड्डे हैं।