टेट 2017 मामला: सुप्रीम कोर्ट में 3 अक्टूबर को होगी सुनवाई

शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी UPTET-2017 मामले पर सुप्रीम कोर्ट की अवकाश कालीन बेंच नोटिस जारी कर चुकी है। इस मामले में पिछली सुनवाई में परीक्षा नियामक को भर्ती मामले का जिम्मेदार बना दिया गया था और भर्ती मामला इस याचिका के निर्णय अनुसार निस्तारित करने का आदेश दिया था।

याचिकाकर्ता ने हाई कोर्ट की डबल बेंच के निर्णय को चुनौती दी है। जिसमे जांच कमेटी की रिपोर्ट को संदेहास्पद बताते हुए 13 अंक प्रदान करने की मांग की है

क्या है मामला:

शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी UPTET-2017 को लेकर हाईकोर्ट ने एक और फैसला दिया है। हाईकोर्ट ने उन अभ्यर्थियों को बड़ी राहत दी है जो 2 अंक से TET-2017 की परीक्षा में फेल हो रहे थे। हाईकोर्ट ने कहा है कि टीईटी 2017 की परीक्षा में पास होने से 2 अंक पीछे रहे अभ्यार्थियों को 2 अंक का ग्रेस मार्क दिया जाए, जिससे वह पास हो सकें। गौरतलब है कि यूपी-टीईटी 2017 की परीक्षा में उत्तरमाला सम्बंधी विवाद पर हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ की सिंगल बेंच ने 6 मार्च को 14 प्रश्नों को हटाने के बाद परिणाम पुनः घोषित करने के आदेश दिया था। सरकार ने आदेश को डबल बेंच में चुनौती दी थी, जिसे स्वीकार करते हुए हाईकोर्ट ने अभ्यर्थियों को दो नम्बर का ग्रेस मार्क्स देने को कहा था। जबकि विशेषज्ञ कमेटी की राय के आधार पर 13 प्रश्नों के सम्बंध में याचियों की आपत्ति को खारिज कर दिया था।