हालात: रुपया पहली बार 73 के पार, जितना भी कमाएंगे कम पड़ेगा, और बढ़ेगी मंहगाई

बुधवार को पहली बार अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 73 के पार चला गया। डॉलर के मुकाबले रुपया 33 पैसे की गिरावट के साथ 73.24 के स्तर पर खुला है, जो रुपया का सबसे निचला स्तर है। वहीं दूसरी तरफ शेयर बाजार में भी ये ही हाल देखने को मिला। सेंसेक्स 184 अंक टूट गया। निफ्टी में 65 अंकों की कमजोरी देखने को मिली।

और बढ़ेगी महंगाई

अमर उजाला की खबर के अनुसार रुपये के 73 का स्तर पार करने के बाद अब महंगाई और बढ़ेगी। कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने, ट्रेड वार, चालू खाता घाटा बढ़ने की आशंका, डॉलर में मजबूती, घरेलू स्तर पर निर्यात घटने और राजनीतिक अस्थिरता जैसे फैक्टर्स की वजह से रुपये पर लगातार दबाव बना हुआ है।

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। कच्चा तेल 85 डॉलर के पार चला गया है। आने वाले दिनों में डॉलर के मुकाबले रुपया 75 डॉलर का स्तर छू सकता है।

बढ़ गया घर का बजट

डॉलर के मुकाबले रुपये में कमजोरी और कच्चा तेल महंगा होने से घर के बजट में 10 से 15 फीसदी तक बढ़ोतरी हो गई है। पेट्रोलियम पदार्थों खासकर डीजल के मूल्य में बढ़ोतरी का असर दैनिक उपभोग की वस्तुओं पर दिखना शुरू हो गया है। इसकी वजह से आलू-प्याज और हरी सब्जियों की कीमत में 30 फीसदी तक का इजाफा हो चुका है, वहीं डबल रोटी व अंडा जैसी दैनिक उपयोग की चीजें भी महंगी हो गई हैं।

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तहत काम करने वाले पेट्रोलियम प्लानिंग एंड एनालिसिस सेल (पीपीएसी) के मुताबिक, बीते जुलाई महीने में इंडिया बास्केट क्रूड की औसत कीमत 73.73 डॉलर प्रति बैरल थी, जबकि उस समय डॉलर के मुकाबले रुपया 67.68 के स्तर पर था।