यूपी टीईटी परीक्षा अब 18 नवंबर और शिक्षक भर्ती छह जनवरी को

टीईटी परीक्षा अब 4 के बजाय 18 नवंबर को होगी। रद की जा चुकी बीटीसी परीक्षा 1 से 3 नवंबर तक होगी। शिक्षक भर्ती परीक्षा 6 जनवरी को होगी।…

पिछले दिनों कौशांबी में पेपर आउट होने के कारण निरस्त की गई बीटीसी 2015 बैच के चौथे सेमेस्टर की परीक्षा एक से तीन नवंबर को होगी। ऐसे में उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) अब चार नवंबर की बजाय 18 नवंबर को कराने का निर्णय किया गया है। दोनों परीक्षाओं का रिजल्ट 10 दिसंबर को घोषित किया जाएगा। वहीं परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती के दूसरे चरण के लिए शिक्षक भर्ती लिखित परीक्षा छह जनवरी को होगी। भर्ती परीक्षा के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 11 से 25 दिसंबर तक होगा।
परीक्षाओं में गड़बडिय़ों पर नाराजगी

जागरण की खबर के अनुसार बेसिक शिक्षा विभाग की परीक्षाओं में गड़बडिय़ों और पेपर आउट होने की घटनाओं से नाराज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को आला अफसरों के साथ मैराथन बैठक की। बैठक में मुख्य सचिव डॉ.अनूप चंद्र पांडेय, अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डॉ.प्रभात कुमार, बेसिक शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी और पुलिस व एसटीएफ के अधिकारी भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री का जोर इस पर था कि पेपर आउट होने से कोई भी योग्य अभ्यर्थी शिक्षक बनने का मौका न चूके। वहीं परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों की कमी जल्दी दूर की जाए। बीटीसी 2015 बैच के चौथे सेमेस्टर की परीक्षा आठ, नौ और 10 अक्टूबर को होनी थी जिसका पेपर आउट होने से परीक्षा निरस्त कर दी गई थी।

परीक्षा समय-सारिणी तय करने के निर्देश
यूपीटीईटी चार नवंबर को कराए जाने पर बीटीसी 2015 बैच के चौथे सेमेस्टर की परीक्षा देने वालों की मांग थी कि निरस्त परीक्षा पहले करायी जाए जिससे कि वह शिक्षकों की अगली भर्ती में शामिल होने से न रह जाएं। इस पर मुख्यमंत्री ने अफसरों के साथ विस्तृत विचार विमर्श किया। उन्होंने बेसिक शिक्षा विभाग के अफसरों को बीटीसी 2015 बैच के चौथे सेमेस्टर की परीक्षा, यूपीटीईटी तथा 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती के दूसरे चरण के लिए प्रस्तावित लिखित परीक्षा की समय-सारिणी तय करने का निर्देश दिया। बैठक में ही इन परीक्षाओं की तारीखें और समय-सारिणी तय किए गए।

बदलेगा शिक्षक भर्ती परीक्षा का पैटर्न
बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी मुख्य सचिव और अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा ने दी। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि पिछली गलतियों से सीख लेते हुए 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती के दूसरे चरण के लिए छह जनवरी को आयोजित की जाने वाली शिक्षक भर्ती परीक्षा के पैटर्न में बदलाव किया जाएगा। आगामी परीक्षा में लघु उत्तरीय प्रश्न नहीं होंगे। परीक्षा में सिर्फ बहु-विकल्पीय प्रश्न होंगे। यह परीक्षा ऑप्टिकल मार्क रिकग्निशन (ओएमआर) आधारित होगी। उन्होंने बताया कि यूपीटीईटी के लिए 18.25 लाख अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।
बीटीसी का पेपर आउट करने वालों पर लगेगा रासुका
बीटीसी 2015 बैच के चौथे सेमेस्टर का पेपर आउट कराने के दोषी पाए जाने वाले लोगों के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। गौरतलब है कि पेपर लीक होने की घटना की जांच एसटीएफ कर रही है। शुक्रवार को बेसिक शिक्षा विभाग की परीक्षाओं के सिलसिले में बुलाई गई बैठक में एसटीएफ ने अपनी जांच की प्रारंभिक रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपी। मुख्यमंत्री ने एसटीएफ के अधिकारियों को निर्देश दिया कि जिस प्रेस में बीटीसी का पेपर छपा, वहां से लेकर परीक्षा केंद्र तक जो भी प्रश्नपत्र आउट कराने के लिए चिन्हित किये जाएं, उन्हें तत्काल गिरफ्तार किया जाए। जरूरत पड़े तो दोषियों की संपत्तियां भी कुर्क की जाएं। यदि यह पाया जाए कि ऐसे लोगों ने गिरोहबंद तरीके से पेपर आउट कराया है तो उनके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाए।