वीडियो: यूपी पुलिस अब मुंह से भी गोली मारे, एनकाउंटर में दरोगा चिल्लाए ‘ठांय-ठांय

यूपी में बीजेपी सरकार के दौर में पुलिस एनकाउंटर ताबड़तोड़ हो रहे हैं, वहीं पुलिस वाले अपनी हरकतों से मुठभेड़ों के जरिए अपने विभाग और सरकार की फजीहत कराने में भी किसी से पीछे नहीं हैं।

मामला पश्चिमी उत्तर प्रदेश के संभल का है, जहां पुलिस को खबर मिली कि असमोली थाना इलाके में 25 हजार का इनामी बदमाश छिपा हुआ है। पुलिस आनन-फानन मौके पर पहुंच गई। लेकिन कथित एनकाउंटर शुरू होते ही दरोगा की पिस्तौल फुस्स हो गई।ऐसे में पुलिस ने नायाब तरीका निकाला। साथी पुलिस वाले ने मुंह से ही ठांय-ठांय करना शुरू कर दिया। मजे की बात यह है कि इस मुठभेड़ के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक पंकज पांडेय और सीओ सुदेश कुमार भी मौके पर थे। आसपास के थाना प्रभारियों को भी मुबारकपुर के जंगल में बुला लिया गया था।जो वीडियो सामने आया है उसमें दिख रहा है कि कोई बदमाश गन्ने के खेत में है जिस पर कान बंद करके, मुंह नीचे करके दरोगा जी गोली चलाने की कोशिश करते हैं। गोली तो चलती नहीं है, तो साथी दरोगा नायाब तरीका निकालते हैं, और चिल्लाते हैं, मारो-मारो— ठायं-ठांय
दरोगा की इस ठांय-ठांय ने बदमाश को कितना डराया, नहीं पता, लेकिन इस ठांय-ठायं से पुलिस की फजीहत जरूर हो गई। मुठभेड़ के दौरान दरोगा के मुंह से ठांय -ठांय करने का यह वीडियो अब वायरल हो रहा है। इस वीडियो के साथ लोग पुलिस की मुठभेड़ पर सवाल उठाकर पुलिस की फजीहत कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि क्या उत्तर प्रदेश की पुलिस मुंह से ठांय-ठांय कर बदमाशों को डरा लेगी। वहीं पुलिस का कहना है कि मुठभेड़ के दौरान फायरिंग के साथ ही मुंह से चिल्लाना भी बदमाशों पर दबाव बनाने के लिए एक रणनीति का ही हिस्सा होता है।

संभल के अपर पुलिस अधीक्षक पंकज पांडेय ने बताया, ‘वैपन से फायर करते समय बीच में रोक आ जाती है तो उसे नीचे करके नार्मल करना पड़ता है। रात को असमोली थाना इलाके में मुठभेड़ के दौरान भी यही हुआ था। वीडियो का छोटा हिस्सा वायरल किया गया है जबकि पूरा वीडियो देखने पर सच नजर आता है। जहां तक मुंह से आवाज निकालने की बात है तो बदमाशों पर दबाव बनाने के लिए एक रणनीति के तहत ही ऐसा भी किया जाता है।’