योगी के मंत्री सरकार से पहले संघ को भेज रहे हैं रिपोर्ट?

क्या योगी सरकार के मंत्री पार्टी आलाकमान से ज्यादा तवज्जो संघ को दे रहे हैं? एक चिट्ठी के सामने आने पर ऐसा ही कुछ संकेत मिल रहा है. योगी सरकार की मंत्री अनुपमा जायसवाल की एक चिट्ठी से सियासी गलियारों में हलचल मच गई है.

यूपी सरकार में बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री अनुपमा जायसवाल का एक कथित खत सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. इस खत में अनुपमा विकास के कामों को लेकर हुई बैठक की रिपोर्ट आरएसएस के सह कार्यवाहक को देती नजर आ रही हैं.

वायरल हो रही चिठ्ठी
क्या लिखा है खत में इस खत में लिखा है:

राज्य योजना आयोग-2 उत्तर प्रदेश शासन के पत्र संख्या 5/2017/(1251/17)/9/5/35-आ-2/2007-69 दिनांक 26/04/2017 के क्रम में मेरे द्वारा दिनांक 27 सितंबर, 2018 को प्रभारी जनपद देवरिया का भ्रमण किया गया. भ्रमण के दौरान शासन की प्राथमिकताओं एवं विकास कार्यक्रमों का प्रभावी अनुश्रवण सुनिश्चित कराए जाने हेतु समस्त विभागों के जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक की गई.
चिट्ठी में आगे कहा गया है- उपर्युक्त बैठक से संबंधित आख्या कृपया आपके अवलोकनार्थ संलग्न कर प्रेषित है.

मंत्री ने खत को किया खारिज
इस चिट्ठी के वायरल होने के बाद विपक्ष योगी सरकार पर निशाना साध रही है. हालांकि अनुपमा जायसवाल ने इसे सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि ये चिट्ठी उनकी नहीं है.