सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की शिफारिश: कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बनें

न्यायमूर्ति गोविंद माथुर को इलाहाबाद उच्च न्यायालय का कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश है। सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने उन्हें मुख्य न्यायाधीश बनाने की शिफारिश की है।

न्यायमूर्ति माथुर ने शुरुआत में राजस्थान उच्च न्यायालय में वकालत की और बाद में उन्हें न्यायाधीश के तौर पर नियुक्त किया गया। उनका तबादला इलाहाबाद उच्च न्यायालय में किया गया था और उन्होंने 21 नवम्बर, 2017 को शपथ ग्रहण किया था

जस्टिस माथुर की नई पारी को यूं समझें

इलाहाबाद हाईकोर्ट में अभी 91 जज, 69 पद खाली हैं

यूपी में हाईकोर्ट की इलाहाबाद और लखनऊ बेंच में 160 जजों के पद स्वीकृत हैं। इनमें से अभी 91 पद भरे हुए हैं और 69 पद खाली पड़े हैं। – जस्टिस माथुर वहां 5 नंबर पर नियुक्त हुए क्योंकि जस्टिस अरुण टंडन, जस्टिस तरुण अग्रवाल, जस्टिस दिलीप गुप्ता व जस्टिस कृष्णमुरारी एक से चार नंबर पर थे।
– इनमें से जस्टिस अरुण टंडन 2017 के दिसंबर में, जस्टिस तरुण अग्रवाल मार्च 2018 और जस्टिस दिलीप गुप्ता जून 2018 में रिटायर हो चुके हैं। ऐसे में जस्टिस माथुर पहले नंबर पर आ गए हैं।
आज आयी शिफारिश के बाद जस्टिस माथुर को इलाहाबाद हाइकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया जाएगा।