CBI केस में CVC ने SC को सौंपी जांच रिपोर्ट, नहीं मिला सीधा सबूत!

26 अक्टूबर को बीती सुनवाई में कोर्ट ने सीवीसी से इस बाबत दो हफ्तों में जांच पूरी कर रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया था, जिसमें सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा पर घूसखोरी के आरोप लगे हैं।

सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना पर घूसखोरी के आरोप लगे हैं।

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) में मची उथल-पुथल पर सोमवार (12 नवंबर) को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई। हालांकि, कुछ टीवी न्यूज रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से बताया गया कि कोर्ट में केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के चार अधिकारी पहुंचे, जिन्होंने जांच रिपोर्ट सीलबंद लिफाफे में कोर्ट को सौंप दी। सूत्रों ने यह भी दावा किया कि सीवीसी को पैसों (घूस) के लेन-देने का सीधा सबूत नहीं मिला है। वहीं, कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि सीवीसी ने वर्मा पर लगे आरोप नकार दिए। अगली सुनवाई शुक्रवार (16 नवंबर) को होगी।

26 अक्टूबर को बीती सुनवाई में कोर्ट ने सीवीसी से इस बाबत दो हफ्तों में जांच पूरी कर रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया था, जिसमें सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा पर घूसखोरी के आरोप लगे हैं। आपको बता दें कि घूसकांड को लेकर केंद्र सरकार ने सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को छुट्टी (फोर्स लीव) पर भेज रखा है। वर्मा ने इसी को लेकर कोर्ट में याचिका दी थी।