इंदौर में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का बड़ा ऐलान, 2019 में नहीं लड़ेंगी लोकसभा चुनाव

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मध्य प्रदेश के इंदौर में बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि वह लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। स्वास्थ्य खराब होने की वजह से उन्होंने चुनाव न लड़ने का फैसला किया है।
बीजेपी की कद्दावर नेता और केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अगला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा की है। उन्होंने इंदौर में अपनी खराब सेहत का हवाला देते हुए खुद इसकी घोषणा की।

इंदौर में एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान सुषमा स्वराज ने कहा कि मैंने मन बनाया है कि आने वाले लोकसभा चुनाव में मैं नहीं लड़ूंगी। हालांकि फैसला पार्टी को लेना है, लेकिन उन्होंने अगला चुनाव नहीं लड़ने का मन बना लिया है।इस समय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज विदिशा से सांसद हैं। लंबे समय से उनकी सेहत ठीक नहीं चल रही हैं। पिछले दिनों सुषमा स्वराज के स्वास्थ्य के ठीक नहीं होने की खबरें भी सामने आई थीं और उन्हें बीच-बीच में अस्पताल भी जाना पड़ा था। अभी दो साल पहले ही उनका किडनी ट्रांसप्लांट किया गया था।

बता दें कि मूलरूप से हरियाणा के अंबाला कैंट की रहने वाली सुषमा स्वराज वकालत के पेशे से राजनीति में आई हैं। सुषमा स्वराज ने एसडी कॉलेज अम्बाला छावनी से बीए और पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़ से कानून की डिग्री ली है। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने पहले जयप्रकाश नारायण के आंदोलन में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। साल 2014 में उन्हें भारत की पहली महिला विदेश मंत्री बनीं। सुषमा स्वराज अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में सूचना प्रसारण मंत्री रह चुकी हैं। कुशल वक्ता के रूप में पहचान रखने वाली सुषमा स्वराज दिल्ली की मुख्यमंत्री भी रह चुकी हैं। उनके पिता आरएसएस के प्रमुख सदस्य थे।