उत्तर प्रदेश: कुशीनगर में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय से 7 बच्चियां गायब, मचा हड़कंप

यूपी के पडरौना शहर के पास कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय के निरीक्षण में 12 बालिकाएं मौके पर मौजूद नहीं थीं। पूछताछ में पता चला कि 5 बालिकाओं की तरफ से अवकाश प्रार्थनापत्र मिला है, जबकि बाकी 7 के बारे में कोई लिखित सूचना नहीं है।

उत्तर प्रदेश में एक आवासीय बालिका विद्यालय से बच्चियों के गायब होने का मामला सामने आया है। कुशीनगर के पडरौना शहर से मात्र कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर स्थित खिरकिया में एसडीएम ने कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय का निरीक्षण किया तो वहां 12 बालिकाएं गायब थी। पूछताछ में पता चला कि 5 छात्रा छुट्टी पर है, जबकि बाकी 7 छात्रा के बारे में कोई लिखित सूचना नहीं थी। एसडीएम ने जब इस अनुपस्थित बारे में पूछा तो वार्डेन संगीता सिंह ने बताया कि बालिकाएं अवकाश पर हैं। लेकिन वह सिर्फ पांच बालिकाओं की ओर से दिए गए अवकाश प्रार्थनापत्र को ही दिखा पाईं।एसडीएम सदर गुलाबचंद्र के पहुंचते ही कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में अफरातफरी मच गई। निरीक्षण के दौरान एसडीएम ने देखा कि स्कूल की छत जर्जर हालत में है। बताया गया कि बारिश में छत से पानी टपकती है। यही नहीं जिस हॉस्टल में छात्राएं रहती हैं, वहां सोने की भी समुचित व्यवस्था नहीं थी। इसके अलावा सफाई की व्यवस्था भी नहीं थी। एसडीएम ने शुक्रवार को वार्डेन को अपने दफ्तर में तलब किया है। इसकी रिपोर्ट डीएम को भेज दी गई है।

बता दें कि कुछ दिन पहले यूपी के देवरिया में शेल्‍टर होम से सेक्‍स रैकेट चलाए जाने का मामला सामने आया था। यहां खुलासा हुआ था कि लड़कियों को देर शाम कारों से ले लाया जाता था और फिर सुबह यहां छोड़ दिया जाता था। वहां उन्‍हें ठीक से भोजन भी नहीं दिया जाता था और दिनभर काम कराया जाता था। मामला सामने आने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने देवरिया शेल्टर होम केस की जांच सीबीआई को सौंपी थी।