यूपी: अब रामपुर में किया वाल्मीकि समाज ने हनुमान मंदिर पर कब्जा, कहा- CM योगी ने खोल दीं हमारी आंखें

रामपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा भगवान हनुमान को दलित कहे जाने को लेकर राजनीति जारी है। यूपी के रामपुर में हनुमान मंदिर पर भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज के लोगों ने अपना हक जताते हुए कब्जा कर सामूहिक रूप से पूजा अर्चना की। वाल्मीकि समाज के लोगों का कहना है कि उनकी आंखे उप्र के मुखिया योगी आदित्यनाथ खोल दी हैं। पूरे देश के हनुमान मंदिरों में अब ऐसा करने के लिए सामज द्वारा अभियान चलाया जाएगा। पुलिस ने इस मामले की गंभीरता को देखते हुए विधि सम्मत कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

दरअसल हुआ ये कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में अपने बयान में कहा था कि हनुमान जी बनवासी दलित थे। इसी को आधार बनाते हुए जिला रामपुर के वाल्मीकि समाज ने तहसील स्वार के क्षेत्र पंजाबी कॉलोनी में प्रतिष्ठित हनुमान मंदिर पर अपना हक जताते हुए कब्जा कर लिया और पूर्जा अर्चना की। वाल्मीकि समाज के लोगों का कहना है कि वे परमपिता भगवान वाल्मीकि जी को मानने वाले हैं लेकिन सीएम योगी आदित्यनाथ ने उनकी आंखें खोल दीं। इसके तहत पवन पुत्र हनुमान जी के मंदिर पर उन्होंने अपना कब्जा जमाया है। उन्होंने कहा कि आगे भी हनुमान मंदिरों की देखरेख वाल्मीकि समाज करेगा। हनुमान मंदिर पर जमाए गए कब्जे को उन्होंने नकारते हुए कहा कि हम किसी भी जाति धर्म से अलग नहीं हैं।

Oneindia की खबर के मुताबिक वाल्मीकि समाज द्वारा हनुमान मंदिर पर पूर्जा अर्चना और अपना हक जताने को लेकर मंदिर की प्रबंधन समिति में समाज के लोगों को शामिल करने की मांग की गई है। साथ ही दो दिन की समय सीमा दी गई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीएम, सर्किल ऑफीसर और थाना अध्यक्ष ने समझाने बुझाने की कोशिश की है। साथ ही मंदिर संचालक मंडल समिति को दो दिन का समय दिया है। साथ ही विधि सम्मत उचित न्यायिक कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।
स्रोत:oneindia.com