चुनाव नतीजे: 3 गुना बढ़कर देश की 21 पर्सेंट आबादी पर कांग्रेस का शासन, बीजेपी के हाथों से फिसले 14 फीसदी

2014 में बीजेपी के केंद्र की सरकार पर काबिज होने के बाद उसका प्रभाव लगातार बढ़ता गया, लेकिन इन नतीजों ने इस पर बुरा असर डाला है। असर बीजेपी के उस मंसूबे पर भी पड़ा है, जिसके तहत पूरे देश के नक्शे को भगवामय करने और ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का सपना देखा गया था।

जनसत्ता की खबर के मुताबिक हालिया विधानसभा चुनावों में मिली शानदार कामयाबी के बाद कांग्रेस अब छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में सरकार बनाने में जुट गई है। इसके साथ ही देश की इस सबसे पुरानी पार्टी का शासन तीन गुना बढ़कर देश की 21 पर्सेंट आबादी पर हो गया है। हालांकि, नॉर्थ ईस्ट में कांग्रेस का आखिरी किला मिजोरम अब ढह चुका है, लेकिन कांग्रेस के प्रभाव में हुए जबर्दस्त इजाफे पर इसका बेहद कम असर पड़ा है। वहीं, बीजेपी के शासन वाले राज्यों की संख्या अब घटकर 16 रह गई है।

2014 में बीजेपी के केंद्र की सरकार पर काबिज होने के बाद उसका प्रभाव लगातार बढ़ता गया, लेकिन इन नतीजों ने इस पर बुरा असर डाला है। असर बीजेपी के उस मंसूबे पर भी पड़ा है, जिसके तहत पूरे देश के नक्शे को भगवामय करने और ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का सपना देखा गया था। मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में हार के बाद देश की करीब 14 प्रतिशत आबादी बीजेपी के शासन क्षेत्र से फिसल गई है। 2014 में मोदी सरकार बनने के बाद बीजेपी को पहली बार एक झटके में इतना बड़ा नुकसान हुआ है।

इस साल मार्च में बीजेपी ने आंध्र प्रदेश की चंद्रबाबू नायडू सरकार से नाता तोड़ लिया था। वहीं, जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती की सरकार जून में गिरने के बाद अब बीजेपी के शासन में देश की 49 प्रतिशत आबादी रह गई है। नॉर्थ ईस्ट के तीन राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के बाद यह आंकड़ा करीब 70 फीसदी का था। बता दें कि मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में क्रमश: 29, 25 और 11 लोकसभा सीटें हैं। बीजेपी ने 2014 के आम चुनाव में इन 65 में से 62 सीटों पर जीत हासिल की थी। बीजेपी को एमपी में सिर्फ 2 जबकि छत्तीसगढ़ में एक सीट गंवानी पड़ी थी। हालांकि, बीजेपी को तीसरी सीट का नुकसान मध्य प्रदेश के रतलाम में नवंबर में हुए उप चुनाव में हुआ।

बीजेपी मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में 2003 के बाद से ही बीजेपी का शासन है। वहीं, राजस्थान में उसने 2013 में वापसी की थी। जब 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार बनी, उस वक्त बीजेपी का सिर्फ 7 राज्यों में शासन था, वहीं कांग्रेस की सत्ता 13 राज्यों में थी। मई 2014 के बाद 22 राज्यों में चुनाव हुए। इनमें से कांग्रेस को अपने दम पर सिर्फ 2 में जीत मिली। ये राज्य थे पंजाब और पुदुचेरी। कर्नाटक में से हार का सामना करना पड़ा, हालांकि उसने जेडीएस के साथ मिलकर सरकार बनाई।

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के परिणाम यह हैं।