कैंसरकारी तत्व: बेबी पाउडर पर प्रतिबंध के बाद जॉनसन ऐंड जॉनसन के बेबी शैंपू और साबुन भी शक के घेरे में, कंपनी पर कसा शिकंजा

जांच अधिकारियों ने कंपनी की मुंबई फैक्ट्री में स्टोर किया गया 200 टन और बद्दी की फैक्ट्री से 80 टन कच्चा माल बरामद किया है, जिसके इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है।

जनसत्ता ऑनलाइन के मुताबिक ड्रग रेगुलेटर ने कंपनी के टेल्कम पाउडर के साथ ही बेबी शॉप और शैंपू की भी जांच की शुरु।

कैंसरकारी तत्व एजबेस्टस का अपने प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल करने के आरोपों से घिरी मशहूर कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन पर भारत में भी शिकंजा कसना शुरु हो गया है। दरअसल देश की ड्रग रेगुलेटर संस्था ने अब जॉनसन एंड जॉनसन के टेल्कम पाउडर के साथ ही शैंपू और बेबी शॉप प्रोडक्ट की जांच भी शुरु कर दी है। बता दें कि कंपनी के टेल्कम पाउडर में ही कैंसरकारी तत्व एजबेस्टस के पाए जाने के आरोप लगे हैं। जिसे लेकर कंपनी के खिलाफ अमेरिका समेत दुनिया के कई देशों में जांच चल रही है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार, भारतीय ड्रग रेगुलेटर संस्था ने बुधवार को कंपनी की मुंबई स्थित फैक्ट्री में टेल्कम पाउडर में इस्तेमाल होने वाले कच्चे माल का इस्तेमाल करने पर रोक लगा दी है। ऐसा ही आदेश जॉनसन एंड जॉनसन की हिमाचल प्रदेश के बद्दी इलाके में स्थित फैक्ट्री के लिए भी दिया गया है।

खबर के अनुसार, शुरुआती जांच में यह भी पता चला है कि कंपनी द्वारा ‘कच्चे माल की जांच के नियमों का भी पूरी तरह से’ पालन नहीं किया जा रहा था। ड्रग रेगुलेटर संस्था के अधिकारियों के मुताबिक नियम ये है कि “कंपनी को कच्चे माल के प्रत्येक बैच की जांच करनी अनिवार्य है, लेकिन जांच में पता चला है कि कंपनी द्वारा कच्चे माल के प्रत्येक बैच की नहीं बल्कि सिर्फ कुछ बैच की इस्तेमाल से पहले जांच की जा रही थी।” माना जा रहा है कि जांच के बाद कंपनी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा सकती है। पहले खबर आयी थी कि सेंट्रल ड्रग रेगुलेटर द्वारा देशभर में जॉनसन एंड जॉनसन की फैक्ट्रियों, डिस्ट्रीब्यूटर्स और होलसेलर्स पर कंपनी के ‘बेबी पाउडर’ को बनाने और उसकी बिक्री करने पर रोक लगा दी गई है।

सेन्ट्रल ड्रग रेगुलेटर के अनुसार, जांच अधिकारियों ने कंपनी की मुंबई फैक्ट्री में स्टोर किया गया 200 टन और बद्दी की फैक्ट्री से 80 टन कच्चा माल बरामद किया है, जिसके इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है। बता दें कि हाल ही में अमेरिका में जांच के दौरान जॉनसन एंड जॉनसन के प्रोडक्ट टेल्कम पाउडर में कैंसरकारक तत्व एजबेस्टस के पाए जाने का खुलासा हुआ था। जिसके बाद अमेरिका के मिसौरी की एक अदालत ने कंपनी पर 4.7 बिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया था। अदालत के आदेश के अनुसार, जुर्माने की यह राशि उन 22 महिलाओं को दी जाएगी, जिन्होंने कंपनी के प्रोडक्ट में एजबेस्टस तत्व के इस्तेमाल का आरोप लगाया था। महिलाओं का दावा है कि कंपनी के टेल्कम पाउडर का इस्तेमाल करने के कारण उन्हें कैंसर जैसी घातक बीमारी का शिकार होना पड़ा है।