बीजेपी सांसद का आरोप: भ्रष्‍टाचारी हैं RBI के नए गवर्नर शक्तिकांत दास

कार्यक्रम के दौरान यह पूछे जाने पर कि उनके हिसाब से किसे आरबीआई का नेतृत्व करना चाहिए? इस पर राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने भारतीय प्रबंधन संस्थान बेंगलुरू के प्रोफेसर ‘आर. वैद्यनाथन’ का नाम लिया।

भाजपा नेता सुब्रह्मण्यन स्वामी ने शनिवार को आरोप लगाया कि भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास भ्रष्टाचार में शामिल थे और उन्होंने हाल में शीर्ष पद पर हुई उनकी नियुक्त को “हैरानी भरा” बताया। हालांकि उन्होंने “भ्रष्टाचार” के बारे में कोई ब्यौरा नहीं दिया। बता दें कि वह पहले भी ऐसे आरोप लगा चुके हैं। स्वामी ने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस के संवाद सत्र में कहा, “आरबीआई के नए गवर्नर अत्यधिक भ्रष्ट हैं। मैंने उन्हें (वित्त मंत्रालय से) हटवा दिया था। मैं शक्तिकांत दास को भ्रष्ट व्यक्ति कह रहा हूं। मैं हैरान हूं कि जिस व्यक्ति को भ्रष्टाचार के चलते मैंने वित्त मंत्रालय से हटवा दिया था उसे गवर्नर बनाया गया।”

बता दें कि शक्तिकांत दास भारतीय प्रशासनिक सेवा के 1980 बैच के अधिकारी हैं। शक्तिकांत दास नोटबंदी के बाद आर्थिक गतिविधियों को सामान्य बनाने में अहम भूमिका निभा चुके हैं। पूर्व वित्त सचिव और वित्त आयोग के सदस्य रहे शक्तिकांत दास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद बताए जाते हैं। हाल ही में उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद खाली हुई रिजर्व बैंक की कुर्सी की जिम्मेदारी शक्तिकांत दास को सौंपी गई है। कार्यक्रम के दौरान यह पूछे जाने पर कि उनके हिसाब से किसे आरबीआई का नेतृत्व करना चाहिए? इस पर राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने भारतीय प्रबंधन संस्थान बेंगलुरू के प्रोफेसर ‘आर. वैद्यनाथन’ का नाम लिया। उन्होंने कहा, “आईआईएम-बी में वित्त के पूर्व प्रोफेसर आर. वैद्यनाथन बेहतर हो सकते थे। वह संघ के पुराने व्यक्ति भी हैं। वह हमारे व्यक्ति हैं।”
साभार: जनसत्ता