पीएम मोदी का साक्षात्कार: ऐसे 10 सवाल जिनके प्रधानमंत्री मोदी ने नहीं दिए देश को जवाब

आसिफ एस खान

नवजीवन की खबर के मुताबिक पीएम मोदी के एक समाचार एजेंसी को दिए इंटरव्यू पर पलटवार करते हुए कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने एक-एक मुद्दे पर घेरते हुए कहा कि उम्मीद थी कि पीएम देश को नई दिशा दिखाएंगे, लेकिन नए साल पर इंटरव्यू में भी वह ‘मैं, मेरा और मुझे’ के अहंकार में डूबे रहे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को एक समाचार एजेंसी को करीब 90 मीनट लंबा इंटरव्यू दिया। इस साक्षात्कार में उन्होंने कई मुद्दों पर बात की और लगभग हर मुद्दे के जवाब में विपक्ष का जिक्र जरूर किया। पीएम मोदी के इस साक्षात्कार के मैं, मेरा और मुझे के अहंकार में डूबा साक्षात्कार बताते हुए कांग्रेस ने मोदी सरकार पर करारा पलटवार किया है। कांग्रेस के संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पीएम मोदी के इंटरव्यू पर सवाल उठाते हुए सवला किया कि 55 महीने पहले किए गए उन 10 बड़े वादों का क्‍या हुआ?

पीएम मोदी को घेरते हुए रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि इंटरव्यू में मोदी जी ने अपने 55 महीनों का हिसाब दिया, लेकिन पूरे साक्षात्कार में मैं, मेरा और मुझे को छोड़कर कहीं कुछ भी नहीं था। सुरजेवाला ने कहा कि देश को उम्मीद थी कि 55 महीने बाद नये साल के मौके पर पीएम देश को नई दिशा दिखाएंगे, लेकिन यह इंटरव्यू ‘खोदा पहाड़ निकली चुहिया’ साबित हुआ। कांग्रेस नेता ने एक-एक मुद्दे पर पीएम को घेरते हुए कहा कि इस सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया है और अब इस सरकार के पास सिर्फ 100 दिन बचे हैं।

पीएण मोदी पर निशाना साधते हुए सुरजेवाला ने कहा कि साक्षात्कार में पीएम मोदी इतने लाचार नजर आए कि ये भी नहीं बता पाए कि अगला चुनाव वह लड़ेंगे या नहीं और लड़ेंगे तो कहां से लड़ेंगे। राम मंदिर पर इंटरव्यू में पीएम मोदी के जवाब पर सवाल उठाते हुए सुरजेवाला ने कहा कि मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अध्यादेश पर निर्णय लेने का क्या अर्थ है? बता दें कि पीएम मोदी ने साक्षात्कार में राम मंदिर पर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि इस मामले में कोर्ट का फैसला आने के बाद अध्यादेश लाने पर कोई निर्णय लेंगे।

देश की सुरक्षा से लेकर गंगा सफाई, स्मार्ट सिटी और राफेल मुद्दे पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने पीएम मोदी को 2014 के चुनाव से पहले किए गए वादों की याद दिलाते हुए कहा कि अगर इन मुद्दों पर भी मोदी जी बोलते तो ज्यादा अच्छा होता। सुरजेवाला ने पीएम मोदी द्वारा देश से किए गए 10 बड़े वादों पर जवाब मांगा।

क्‍या देश के लोगों के खातों में 15 लाख रुपए आ गए ?
80 लाख करोड़ रुपए काला धन जो 100 दिन में वापस आना था, क्या वह वापस आया?

प्रतिवर्ष 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने के वादे का क्या हुआ। क्या 55 महीने में 9 करोड़ लोगों को जो रोजगार मिलना था, उनमें से 9 लाख लोगों को भी रोजगार मिला या नहीं ?

किसानों को लागत पर 50 फीसदी मुनाफा देने का जो वादा था, उसका क्या हुआ?

कारोबार सरल बनाने का वादा कर सत्ता में आने के बाद जीएसटी यानी गब्‍बर सिंह टैक्‍स लगाकर व्‍यापार चौपट क्‍यों किया गया?

नोटबंदी की वजह से कालेधन वालों की जो ऐश हुई और देश की अर्थव्‍यवस्‍था को साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए का जो नुकसान हुआ, उसका क्‍या जवाब है?

नोटबंदी के नाम पर लाखों महिलाओं द्वारा जोड़-जोड़कर जमा किया स्‍त्रीधन लूट लिया। 120 लोगों की बैंकों की लाइन में जो मौत हुई उसका जवाब क्‍या है?

जम्‍मू कश्‍मीर में 428 जवान और 278 नागरिक मारे जा चुके हैं। देश में नक्‍सलवाद ने 248 जवानों की जान ले ली और 378 नागरिक भी मारे गए। राष्‍ट्रीय सुरक्षा से समझौता और खिलवाड़ क्‍यों किया गया?

राफेल में 30 हजार करोड़ का भ्रष्‍टाचार हुआ है। अगर उसमें कुछ गलत नहीं हुआ है तो मोदी जी जेपीसी जांच से क्यों भाग रहे हैं?

गंगा की सफाई का क्या हुआ? रिपोर्ट के अनुसार आज भी 39 में से 38 घाटों पर गंगा मैली है? 100 स्‍मार्ट सिटीज का क्या हुआ? स्‍टार्टअप इंडिया, स्‍क‍िल इंडिया जैसी योजनाओं का का क्‍या हुआ?