पीएम क्यों बोल रहे झूठ? 4 लाख किसानों के कागजात का बंडल थामे संसद पहुंचे कांग्रेसी सांसद, कहा- इनके कर्ज हुए माफ

हिमाचल सरकार के एक साल पूरा होने के मौके पर आयोजित रैली में प्रधानमंत्री के कहा था कि कांग्रेस ने झूठ बोलकर किसानों को धोखा दिया है। इसके साथ ही पीएम ने आरोप लगाया था कि चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस ने किसानों की पीठ में छुरा भोका है।

जनसत्ता ऑनलाइन के मुताबिक पंजाब से कांग्रेस के सांसद और राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने अनोखे अंदाज में पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। जाखड़ राज्य के ऐसे चार लाख 14 हजार 285 किसानों को कागजात का बंडल लेकर संसद पहुंच गए जिनकी कर्ज माफी राज्य की अमरिंदर सिंह सरकार ने किया है। जाखड़ ने कहा कि प्रधानमंत्री झूठ बोल रहे हैं कि कांग्रेस सरकार किसानों का कर्ज माफ नहीं कर रही है या बहुत कम लोगों के कम राशि का कर्ज माफ कर रही है। बता दें कि पिछले दिनों हिमाचल सरकार के एक साल पूरा होने के मौके पर आयोजित रैली में प्रधानमंत्री के कहा था कि कांग्रेस ने झूठ बोलकर किसानों को धोखा दिया है। इसके साथ ही पीएम ने आरोप लगाया था कि चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस ने किसानों की पीठ में छुरा भोका है।

गुरदासपुर से सांसद जाखड़ ने दो दिन पहले ही कहा था कि धर्मशाला में पीएम मोदी के बयान पर वो संसद में उन्हें घेरेंगे और कर्जमाफी के सबूत पेश करेंगे। जाखड़ ने कहा कि प्रधानमंत्री जैसे पद पर बैठे व्यक्ति को राजनीतिक लाभ के लिए इस तरह से झूठ बोलना शोभा नहीं देता। उन्होंने कहा कि पंजाब की कांग्रेस सरकार ने ढाई एकड़ तक के किसानों को दो लाख तक के कर्ज को माफ किया है। इससे संबंधित सारी सूचनाएं सरकार की तरफ से सभी बैंकों को भी दी गई है। जाखड़ ने कहा कि जल्द ही राज्य सरकार पांच एकड़ तक के किसानों का कर्ज माफी का एलान कर सकती है। उस पर अभी काम चल रहा है।

बता दें कि इस वक्त किसानों की कर्ज माफी को लेकर देश में सियासत चरम पर है। पांच राज्यों के विधान सभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने इसका कार्ड खेलते हुए तीन राज्यों में सरकार बनाई है और सरकार बनते ही मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कर्ज माफी का एलान किया है। इधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों की कर्जमाफी से इनकार किया है। एक जनवरी को भी दिए इंटरव्यू में उन्होंने कर्ज माफी को किसानों की समस्या का हल मानने से इनकार किया था और उसके स्थाई समाधान की बात कही थी।