यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा पर संशय: टेट 2018 मामले में भर्ती को लेकर हाईकोर्ट कल सुनाएगा फैसला, टेट 2017 के अभ्यर्थी भी होंगे शामिल

टेट 2017 के मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ खंडपीठ की डबल बेंच ने 6 शिक्षामित्रों को भर्ती परीक्षा में शामिल करने का फैसला राज्य सरकार को 3 दिन पहले सुनाया था, इस आधार पर एकल पीठ में लगभग एक और शिक्षामित्रों ने याचिकाएं दाखिल की थी, कोर्ट ने उन्हें भी परीक्षा में बैठने की अनुमति दे दी है। ऐसे में राज्य सरकार उन्हें कैसे परीक्षा में शामिल कराएगी ये सवाल अनुत्तरित है। वहीं दूसरी ओर यूपीटीईटी 2018 मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसला सुरक्षित कर लिया है। अब पुनः कल शनिवार को फिर छुट्टी के दिन कोर्ट खुलेगा और सुबह 10 बजे फैसला सुनाया जाएगा।

यूपीटीईटी 2018 मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसला सुरक्षित कर लिया है। अब पुनः कल शनिवार को फिर छुट्टी के दिन कोर्ट खुलेगा और सुबह 10 बजे फैसला सुनाया जाएगा।उल्लेखनीय है कि छह जनवरी को सरकारी प्राइमरी स्कूलों में होने वाली 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती की परीक्षा होने जा रही है। इसको लेकर तैयारियों जोरों पर है। इसको लेकर परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने सभी जिलों को प्रश्न पत्र, अभ्यर्थियों की सूची और उपस्थिति पत्र आदि भेज दिया है। कोर्ट के इस निर्णय पर रविवार को प्रस्तावित परिषदीय स्कूलों की 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा निर्भर है।

शिक्षामित्र भी होने हैं शामिल

खास बात यह है कि शिक्षामित्र में परीक्षा में शामिल हो सकेंगे। उन्हें आयु सीमा में छूट मिलेगी। प्रदेश सरकार ने इसको लेकर आदेश जारी कर दिया है। उन्हें अलग से ऑफलाइन प्रवेशपत्र जारी किए जाएंगे। जिन शिक्षामित्रों ने प्रशिक्षण योग्यता के कॉलम में गलत कोड भर दिया, उन्हें भी ऑफलाइन प्रवेश पत्र दिए जाएंगे। दरअसल, कई शिक्षा मित्रों ने अपनी प्रशिक्षण योग्यता दूरस्थ बीटीसी की जगह विशिष्ट बीटीसी भर दी थी। जिस कारण उन्हें आयु सीमा में छूट का लाभ नहीं मिला और आवेदन भी निरस्त कर दिया गया।

6 जनवरी को होना है परीक्षा।