‘मेक इन इंडिया’ को बड़ा झटका, Samsung ने बंद किया भारत में टीवी बनाना, अब LG भी हाथ खड़े कर रही!

डिपार्टमेंट ऑफ इंडस्ट्रियल पॉलिसी एंड प्रोमोशन भी इस ड्यूटी को हटाने के पक्ष में है। हालांकि इस मुद्दे पर आखिरी फैसला वित्त मंत्रालय के अधिकारियों से चर्चा के बाद ही लिया जाएगा।

जनसत्ता ऑनलाइन की रिपोर्ट के मुताबिक भारत सरकार द्वारा टीवी के एक महत्वपूर्ण पार्ट ओपन सेल एलईडी पैनल पर 5% ड्यूटी लगाए जाने और आसियान देशों से आयात को ड्यूटी फ्री कर दिए जाने से देश के मेक इन इंडिया प्रोग्राम को झटका लगा है। दरअसल सैमसंग जैसी बड़ी कंपनी ने भारत में अपनी एक प्रोडक्शन यूनिट बंद कर आसियान देशों में टीवी सेट का प्रोडक्शन शुरु कर दिया है। जिसके बाद कंपनी आसियान देशों से भारत में टीवी सेट का आयात कर रही है। इतना ही नहीं ऐसी खबरें हैं कि सैमसंग के बाद अब एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स भी ऐसी ही योजना पर विचार कर रही है। इकॉनोमिक टाइम्स की एक खबर के अनुसार, कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स एंड अप्लाइंसेस मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशन (CEAMA)के आंकड़ों के तहत सैमसंग ने बीते साल से वियतनाम में टीवी सेट का प्रोडक्शन शुरु किया है। साल 2017-18 में जहां वियतनाम से 16,000 यूनिट का भारत में आयात हुआ, वहीं 2018-19 में यह आंकड़ा बढ़कर 6 लाख यूनिट हो गया।

यही वजह है कि अब सरकार टीवी के ओपन सेल एलईडी पैनल पर लगी 5% ड्यूटी को खत्म करने पर विचार कर रही है। इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि 5% ड्यूटी देश में मैन्यूफैक्चरिंग पर बुरा प्रभाव पड़ा है। डिपार्टमेंट ऑफ इंडस्ट्रियल पॉलिसी एंड प्रोमोशन भी इस ड्यूटी को हटाने के पक्ष में है। हालांकि इस मुद्दे पर आखिरी फैसला वित्त मंत्रालय के अधिकारियों से चर्चा के बाद ही लिया जाएगा। हालांकि एलजी इंडिया के प्रवक्ता का कहना है कि उन्हें मेक इन इंडिया में भरोसा है और वह यहां अपना प्रोडक्शन जारी रखेंगे।

बता दें कि सरकार ने पहले फरवरी, 2018 के बजट में ओपन सेल एलईडी पैनल पर 10% ड्यूटी लगायी थी। जिसे बाद में घटाकर 5% कर दिया गया। सरकार की इस ड्यूटी के चलते सैमसंग ने अपने चेन्नई स्थित प्लांट में प्रोडक्शन बंद कर दिया है। इस प्लांट में सैमसंग सालाना 10 लाख टीवी यूनिट का प्रोडक्शन करती थी। बीते साल अगस्त में इस प्लांट को बंद करने की प्रक्रिया शुरु की गई थी, जो कि अक्टूबर तक चली।