प्रधानमंत्री को झूठ नहीं बोलना चाहिए- रवीश कुमार

Ravish Kumar : प्रधानमंत्री को झूठ नहीं बोलना चाहिए, इतना भी नहीं कि हँसी भी न आए…

कौन मानता है इस देश में कि लूट सौ फ़ीसदी ख़त्म हो गई है। प्रधानमंत्री ने एक क़ानून बनाया है। राजनीतिक दल को चंदा देने का क़ानून। यह क़ानून पूरी तरह अपारदर्शी है। दूसरा दलों को जो चंदा मिलता है उसका पचास प्रतिशत दाताओं के नाम मालूम नहीं होते।

हाल ही में पूर्व चुनाव आयुक्त ने रिटायर होने पर कहा कि नोटबंदी के बाद भी चुनावों में काले धन का इस्तमाल नहीं होता है। विधायकों की ख़रीद फ़रोख़्त की ख़बरें आ रही हैं। क्या वो सब ख़र्चा ईमानदारी के पैसे से हो रहा है?

क्या प्रधानमंत्री कुछ भी बेलने के लिए रैलियाँ कर रहे हैं ? आप भी इंटरनेट में राशन घोटाला लिखकर सर्च करें। झारखंड और यूपी से ही कई ख़बरें मिलेंगीं। स्कालरशिप की हालत ये है कि पीएचडी के छात्र आंदोलन कर रहे हैं कि समय से नहीं मिलती है और बहुत कम मिलती है।

साभार: एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार की एफबी वॉल से. वाया