नागरिकता बिल के विरोध में पूर्वोत्तर में उबाल: मिजोरम के युवाओं ने जलाए मोदी, राजनाथ के पुतले, दी चेतावनी- उठा लेंगे हथियार

करीब 30 हजार की संख्या में आए लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह का पुतला फूंका। वहीं, मार्च के दौरान “हेलो चाइना, बाय बाय इंडिया” लिखे हुए कई पोस्टर भी देखे गए।

जनसत्ता ऑनलाइन के मुताबिक नागरिकता संशोधन बिल को लेकर मिजोरम में उठा तूफान शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। इसे लेकर राज्य सरकार ने भी कई बार समझाने के प्रयास किए। लेकिन सभी नाकाफी ही रहे। बिल का विरोध तेज होता जा रहा है। अब यहां के कई संगठनों ने गणतंत्र दिवस के बहिष्कार का भी प्रस्ताव रख दिया है। वहीं, बुधवार को मिजोरम में युवाओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह का पुतला फूंका। इसके साथ ही हथियार उठाने की चेतावनी भी दी है।

बिल के विरोध में मिजोरम के महत्वपूर्ण एनजीओ, बड़े छात्र संगठन मिज़ो ज़िरलाई पॉल और यंग मिज़ो एसोसिएशन ने गणतंत्र दिवस समारोह का बहिष्कार करने का प्रस्ताव रखा है। मिज़ो ज़िरलाई पॉल के जनरल सेक्रेटरी लल्नुनमाविआ पाउतू ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ‘हमने केंद्र सरकार को एक मेमोरेंडम सौंपा है। इसके साथ ही कई बार इस बिल को रोकने की मांग की गई। यह बिल मिजोरम के लोगों के लिए खतरनाक है’।

उन्होंने कहा, यदि मिज़ोरम के लोगों की मांग को अगर अनदेखा किया जाता रहा तो युवाओं के पास बंदूक उठाने के अलावा कोई और रास्ता नहीं होगा … हम हथियार उठाने के लिए मजबूर हो सकते हैं। इसके साथ ही करीब 30 हजार की संख्या में आए लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह का पुतला फूंका। वहीं, मार्च के दौरान “हेलो चाइना, बाय बाय इंडिया” लिखे हुए कई पोस्टर भी देखे गए।