गणतंत्र दिवस 2019: खाली पड़े मैदान में भाषण देते रहे मिजोरम के राज्यपाल, नागरिकता बिल के विरोध में पूर्वोत्तर

मिजोरम में भी आज 70वां गणतंत्र दिवस मनाया गया। लेकिन इस दौरान मिजोरम के राज्यपाल कुम्मानम राजशेखरन के संबोधन के दौरान मैदान लगभग खाली पड़ा था।

जनसत्ता ऑनलाइन की खबर के मुताबिक देश आज अपना 70वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। लेकिन इस बीच मिजोरम से हर साल से कुछ अलग नजारा देखने को मिला। यहां राज्यपाल कुम्मानम राजशेखरन के संबोधन के दौरान मैदान लगभग खाली पड़ा था। संबोधन के वक्त राज्य के कुछ एक मंत्री, विधायकों और आला अधिकारियों के अलावा कोई आम नागरिक मौजूद नहीं था। बताया जा रहा है कि मिजोरम सिटिजनशिप बिल में संशोधन के विरोध में गणतंत्र दिवस समारोह का बायकॉट किया गया है।

बता दें कि पूरे देश में जहां लोकतंत्र का यह पर्व हर जगह धूमधाम से मनाया जा रहा तो वहीं मिजोरम में सिटिजनशिप बिल में संशोधन के विरोध में एनजीओ कॉर्डिनेशन कमेटी ने गणतंत्र दिवस के राज्य स्तरीय बायकॉट का ऐलान किया है। मिजोरम के सामाजिक संगठन और छात्र संगठन इस कमेटी में शामिल बताए जा रहें हैं। आज सुबह जब गणतंत्र दिवस के मौके पर राज्यपाल संबोधन दे रहे थे तो इस दौरान समारोह स्थल काफी हद तक खाली पड़ा हुआ था।

गणतंत्र दिवस के मौके पर भाषण देते हुए राज्यपाल ने कहा, ”मिजोरम की सीमाओं की सुरक्षा की लिए कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। सरकार जनता के कल्याण और विकास के लिए योजनाओं पर काम कर रही है। राज्य के लोगों की पहचान, संस्कृति और मूल्यों को बढ़ाने के लिए गांव-गांव में सिटीजन रजिस्ट्रेशन कराया गया। सरकार नागरिकों में भाईचारे की भावना को बढ़ा रही है।”

मिजोरम में पुलिस अधिकारियों के अनुसार, गणतंत्र दिवस की वार्षिक परेड में इस बार 6 सैन्य टुकड़ियां शामिल हुईं। राज्य के दूसरे जिला मुख्यालयों में भी ध्वजारोहण किया गया। उन्होंने बताया कि इस दौरान कुछ जगहों पर विरोध में तख्ती और बैनर लेकर लोगों के खड़े होने की खबर है।