केंद्र ने बाढ़ में मदद के बदले केरल को 102 करोड़ का थमाया बिल

केंद्र सरकार ने केरल बाढ़ के दौरान मदद के तौर पर खर्च किए रुपये केरल सरकार से वापस मांगे हैं. केंद्र सरकार के मुताबिक बाढ़ के दौरान केरल सरकार ने भारतीय वायु सेना के हवाई जहाज और हेलीकॉप्टरों का उपयोग राहत कार्यों में किया था. जिसके एवज में केंद्र ने राज्य सरकार से 102 करोड़ रुपयों की मांग की है.

जनसत्ता की रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र सरकार ने ये सूचना राज्य सभा की कार्यवाही के दौरान दी है. राज्य रक्षा मंत्री सुभाष भामरे ने राज्य सभा में एक लिखित जवाब में कहा कि बाढ़ के दौरान वायु सेना के हवाई जहाजों ने 517 उड़ाने भरी और 634 उड़ाने हेलीकॉप्टरों ने भरी. इस दौरान 3,787 लोगों को एअरलिफ्ट किया गया. बाढ़ के दौरान हेलीकॉप्टरों ने राहत सामाग्री बांटने के लिए भी उड़ाने भरी.

भामरे ने कहा कि इस काम में 102 करोड़ रुपये खर्च हुए जिसका बिल केरल सरकार को सौंप दिया गया है. उन्होंने कहा कि वायु सेना के खर्च का वहन राज्य और केंद्र प्रशासन करते हैं.

बीते साल अगस्त के महीने में केरल में भारी बाढ़ आई थी. इस दौरान बड़ी मात्रा में जन-धन की हानि हुई थी. बाढ़ में सैन्य बलों के प्रयासों को चारों ओर से सराहा गया था. केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने भी सेना की काफी प्रशंसा की थी.

केंद्र सरकार ने राज्य को खर्च का बिल थमाने के लिए 1970 में स्थापित एक नियमावली का हवाला दिया है. इस नियमावली में नागरिक संस्थानों को सैन्य मदद मुहैया कराने के लिए हिदायतें दी गई हैं.