मोदी सरकार ने 15 उद्योगपतियों का साढ़े तीन लाख करोड़ का कर्ज माफ किया: राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने 15 बड़े उद्योगपतियों का 3.5 लाख करोड़ रुपये का कर्ज ‘माफ’ किया लेकिन छोटे और सीमांत किसानों को हर साल केवल छह हजार रुपये की मदद की घोषणा की. गांधी ने दोहराया कि प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) राफेल सौदे में फ्रांस से सीधे बातचीत कर रहा था.

उन्होंने कहा कि अगर आगामी लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की सरकार बनती है तो वह गरीबों के लिए न्यूनतम आय गारंटी सुनिश्चित करेगी.

राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ में एक किसान रैली को सम्बोधित करते हुए 28 जनवरी को कहा था कि हिंदुस्तान के हर गरीब व्यक्ति को 2019 के बाद कांग्रेस पार्टी की सरकार गारंटी के साथ न्यूनतम मजदूरी देने जा रही है.” उन्होंने किसान सभा में न्यूनतम मजदूरी पर जोर देते हुए कहा था कि न्यूनतम मजदूरी से मतलब है मिनिमम इनकम गारंटी.

भोपाल किसान आभार सम्मेलन में बोलते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी ने अंतरिम बजट 2019-20 पेश होने के समय लोकसभा में किसानों को आर्थिक मदद की घोषणा की प्रशंसा की.

उन्होंने कहा, ‘‘वे फैसले की प्रशंसा कर रहे थे, एक ओर किसानों को केवल 17 रुपये प्रति दिन की मदद की घोषणा की गई जबकि दूसरी ओर, सरकार ने 15 बड़े उद्योगपतियों का साढे तीन लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया.’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप इसे और विभाजित करें तो यह 3.5 रुपये प्रति व्यक्ति है.’’

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ भी इस मौके पर मौजूद रहे.