सुप्रीम कोर्ट: चीफ जस्टिस गोगोई की आवाज में हाई कोर्ट के 2 जजों को फर्जी कॉल, कई वकीलों को जज बनाने के लिए कहा

तेलंगाना और कर्नाटक हाई कोर्ट के 2 जजों को एक अंजान शख्स ने कॉल करके खुद को सुप्रीम कोर्ट का चीफ जस्टिस रंजन गोगोई बताया। साथ ही, कुछ वकीलों के नाम बताते हुए उन्हें हाई कोर्ट का जज बनाने की सिफारिश की।

जनसत्ता ऑनलाइन की रिपोर्ट तेलंगाना और कर्नाटक हाई कोर्ट के 2 जजों को एक अंजान शख्स ने कॉल करके खुद को सुप्रीम कोर्ट का चीफ जस्टिस रंजन गोगोई बताया। साथ ही, कुछ वकीलों के नाम बताते हुए उन्हें हाई कोर्ट का जज बनाने की सिफारिश की। बताया जा रहा है कि बातचीत के दौरान जजों के लगा कि वे वाकई चीफ जस्टिस गोगोई से ही बात कर रहे हैं। जांच में खुलासा हुआ कि दोनों जजों को सुप्रीम कोर्ट के इलेक्ट्रॉनिक प्राइवेट ब्रांच सिस्टम से कॉल करने की जानकारी दी गई थी, जबकि आरोपी ने यह कॉल्स मोबाइल से की थीं। इस मामले का खुलासा तब हुआ, जब चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और हाई कोर्ट के दोनों जजों के बीच हकीकत में बातचीत हुई।

इन जजों को की गई कॉल : हाई कोर्ट के जिन जजों को कॉल की गई, उनमें से एक तेलंगाना हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस बी राधाकृष्णन और कर्नाटक हाई कोर्ट के कार्यकारी चीफ जस्टिस एल नारायण स्वामी हैं। टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के सेक्रेटरी जनरल संजीव कालगांवकर ने बताया कि सीजेआई के आदेश के बाद कोर्ट के आला अधिकारियों ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

आरोपी ने कोर्ट का सिस्टम किया हैक : तिलक नगर पुलिस थाने के सूत्रों ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री की ओर से शिकायत दर्ज कराई गई है। इस मामले में कुछ अहम सुराग भी हाथ लगे हैं। फिलहाल आरोपी की पहचान नहीं हुई है, लेकिन वह सुप्रीम कोर्ट के इलेक्ट्रॉनिक प्राइवेट ब्रांच सिस्टम को हैक करने में कामयाब रहा।