मनमोहन सिंह सरकार में कश्मीर के हालात बेहतर थे, विदेश राज्यमंत्री और बीजेपी नेता जनरल वीके सिंह ने स्वीकारा

New Delhi: Minister of State for External Affairs VK Singh addresses a press conference on Pravasi Bharatiya Divas, in New Delhi, Friday, Jan. 11, 2019. (PTI Photo/Vijay Verma) (PTI1_11_2019_000050B)

भारत के विदेश राज्यमंत्री और बीजेपी नेता जनरल वीके सिंह ने स्वीकार किया कि यूपीए सरकार के वक्त कश्मीर के हालात सामान्य थे. उन्होंने यह बात हाल ही में हुए पुलवामा हमले को लेकर एक कार्यक्रम में कही.

जनरल वीके सिंह ने शिमला में बीजेपी के इस कार्यक्रम में अपनी बात रखते हुए कहा, “साल 2005 से 2012 के बीच कश्मीर में हालात सही थे. आज जो वहां बिगड़ी हुई स्थिति उसकी शुरुआत 2012 के बाद हुई.”

2005 से 2012 के बीच कांग्रेस नेतृत्व वाली यूपीए-1 और यूपीए-2 का कार्यकाल रहा है. 2004 में अटल सरकार का कार्यकाल खत्म होने के बाद कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सत्ता में आई थी. इसके बाद 2009 में हुए आम चुनाव के बाद एक बार फिर से यूपीए की सरकार में चुन कर आई थी.

वीके सिंह ने इस कायर्क्रम में पुलवामा हमले का जवाब देने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक और युद्ध की स्थिति में जाने जैसे अहम मुद्दे पर अपनी बात रखते हुए कहा, “हमें धैर्य रखना चाहिए. सही वक्त पर इसका सही जवाब मिल जाएगा.”

वहीं आतंकवाद को खत्म करने जैसे मसले पर उन्होंने कहा कि सेना के पास उन लोगों की सूची है, जो देश में रहते हुए इस गतिविधि में लिप्त हैं.

वीके सिंह ने इस कायर्क्रम में आगे यह भी कहा, कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले को लेकर सभी पार्टियों को साथ आगे आना होगा.