चाहे वो एक्टर हो या सिंगर या हो डांसर, पैसे के बदले राजनीतिक दलों के पक्ष में सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने के लिए सब तैयार: कोबरापोस्ट

खोजी पत्रकारिता करने वाली वेबसाइट कोबरापोस्ट ने नया खुलासा किया है। वेबसाइट का दावा है कि मनोरंजन जगत से जुड़े तमाम कलाकार पैसा लेकर किसी भी राजनीतिक दल के लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट से प्रचार करने को तैयार हैं।

जरा सोचिए, आप किसी बॉलीवुड स्टार के ज़बरदस्त फैन हैं। फेसबुक, ट्विटर और इन्स्टाग्राम के जरिये उससे जुड़कर आप यह जानना चाहते हैं वो स्टार क्या कह रहा है, किसी मुद्दे पर उसकी क्या राय है। अब सोचिए, आपका वो चहेता स्टार गुपचुप पैसे लेकर किसी पार्टी के एजेंडे को आगे बढ़ा रहा हो तो क्या हो?

खोजी पत्रकारिता करने वाली वेबसाइट कोबरापोस्ट ने इसी बारे में एक स्टिंग ऑपरेशन किया है। इस स्टिंग में कोबरापोस्ट ने दावा किया है कि मनोरंजन जगत की नामी-गिरामी हस्तियां पैसे लेकर किसी भी राजनीतिक दल का प्रचार सोशल मीडिया पर करने को तैयार हैं।

कोबरापोस्ट ने दावा किय है कि जिन नामी-गिरामी हस्तियों ने ऐसा करने की हामी भरी उनमें प्लेबैक सिंगर अभिजीत भट्टाचार्य, कैलाश खेर, मीका सिंह, बाबा सहगल, अभिनेता जैकी श्रॉफ, शक्ति कपूर, विवेक ओबेरॉय, सोनू सूद, अमीषा पटेल, महिमा चौधरी, श्रेयस तलपड़े, पुनीत इस्सर, सुरेंद्र पाल, पंकज धीर और उनके पुत्र निकितिन धीर, टिस्का चोपड़ा, दीपशिखा नागपाल, अखिलेन्द्र मिश्रा, रोहित रॉय, राहुल भट, सलीम ज़ैदी, राखी सावंत, अमन वर्मा, हितेन तेजवानी और उनकी पत्नी गौरी प्रधान, एवलीन शर्मा, मिनिषा लाम्बा, कोइना मित्रा, पूनम पांडेय, सनी लियोनी, कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव, सुनील पाल, राजपाल यादव, उपासना सिंह, कृष्णा अभिषेक, विजय ईश्वरलाल पवार यानि वीआईपी, कोरियोग्राफर गणेश आचार्य और डांसर-एक्टर संभावना सेठ आदि के नाम हैं।

कोबरापोस्ट ने दिल्ली के प्रेस क्लब में प्रेस कांफ्रेंस कर इस बारे में जानकारी देते हुए बतायाकि उसके रिपोर्टर असित दीक्षित और उमेश पाटिल ने नाम के लिए एक पीआर एजेंसी का प्रतिनिधि बनकर इन सेलिब्रिटीज से मुलाक़ात की। इस मुलाक़ात में कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने अपना अजेंडा बताया: आपको अपने फेसबुक, ट्विटर और इन्स्टाग्राम अकाउंट के जरिये एक राजनीतिक पार्टी को प्रोमोट करना है ताकि आने वाले 2019 के चुनावों से पहले पार्टी के लिए माकूल माहौल तैयार हो सके।

कोबरापोस्ट का कहना है कि उसके रिपोर्टरों ने सेलिब्रिटीज़ को बताया कि वे इसके लिए उन्हें हर महीने अलग-अलग मुद्दों पर कंटैंट यानि सामाग्री देंगे, जिसे सेलिब्रिटी अपने शब्दों और शैली में लिखकर अपने फेसबुक, ट्विटर और इन्स्टाग्राम अकाउंट से पोस्ट करेंगे। आपके और हमारे बीच आठ-नौ महीने का एक दिखावटी करार होगा। यही नहीं जब पार्टी किसी मुद्दे पर घिर जाए तो आपको ऐसे मौकों पर पार्टी का बचाव भी करना होगा।

कोबरापोस्ट के मुताबिक उसने करीब एक महीने तक इस स्टिंग को किया। उसके मुताबिक ज्यादातर सेलिब्रिटीज़ ने ऐसा करने की हामी भरी। ये लोग बीजेपी, कांग्रेस और अन्य राजनीतिक दलों के लिए सोशल मीडिया पर प्रचार करने को तैयार हो गए। कोबरापोस्ट का कहना है कि इन लोगों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे किस पार्टी का प्रचार कर रहे हैं, उनकी दिलचस्पी सिर्फ मनमाफिक पैसा मिलने में थी।

इसके लिए किसी ने दो लाख तो किसी ने ढाई करोड़ रुपए महीने में एक मैसेज सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के मांगे। इतना ही नहीं सिर्फ कलाकारों ने पैसा चेक से मांगा, बाकी सब नकद में यानी कालेधन में लेने को भी तैयार हो गए। हालांकि ज्यादातार कलाकारों ने नोटबंदी की तारीफ की, लेकिन नकद लेने में उन्हें गुरेज़ नहीं था।

कोबरापोस्ट का दावा है कि उसके रिपोर्टरों ने इन सभी कलाकारों से मुलाकात कोआर्डिनेटर्स के जरिए की। वेबसाइट ने इस भी कोआर्डिनेटर के नाम का भी खुलासा किया है। साथ ही कलाकारों के साथ हुए कुछ दिलचस्प हिस्सों को भी सामने रखा है। मसलन परदेस फिल्म की हिरोइन रही महिमा चौधरी का कहना था कि बीजेपी तो कुछ भी दे सकती है। वे तो एक महीने का एक करोड़ तक दे देंगे। इसी तरह सलमान खान के साथ दबंग जैसी फिल्म कर चुके सोनू सूद एक महीने में 15 मैसेज के लिए 1.5 करोड़ की पेशकश पर 2.5 करोड़ रुपए मांगने लगे।

इसी तरह हम मुद्दे पर बयानबाज़ी करने वाले गायक अभिजीत भट्टाचार्य कहते हैं कि मैसेज ऐसा हो कि न्यूट्रल लगे, जबकि कोरियोग्राफर गणेश आचार्य कहते हैं कि, “मैं तो जो भी मैसेज डालूंगा वह डांस स्टाइल में होगा, तो इसके करोड़ों लगेंगे।”

जैकी श्रॉफ तो इस लेनदेन के बाद भी इसे फकीर को ऊपर वाले की तरफ से आया धन मानते हैं तो सनी लियोनी ने तो शर्त रख दी कि उनके पति को मोदी जी ओवरसीज़ सिटीज़न बना दें। वहीं कथित तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊपर बन रही फिल्म में काम कर रहे अभिनेता विवेक ओबरॉय थोड़ा जल्दबाज़ी में दिखे। उनका कहना है कि जो भी फार्मेलिटीज़ हैं वह जल्दी पूरी हो जाएं।

कोबरापोस्ट का कहना है कि उसे अपने स्टिंग के दौरान ऐसे कलाकार भी मिले जिन्होंने इस पेशकश को ठुकरा दिया। इनमें विद्या बालन, अरशद वारसी, रज़ा मुराद और सौम्या टंडन जैसे लोग शामिल हैं।

(यह खबर कोबरापोस्ट की वेबसाइट पर प्रकाशित प्रेस विभप्ति के आधार पर बनाई गई है।)