महाराष्ट्र: सरकारी नीतियों के खिलाफ आज किसान फिर सड़कों पर, नासिक से मुम्बई तक करेंगे मार्च

महाराष्ट्र में किसान अपनी मांगे पूरी नहीं होने के कारण एक बार फिर सड़कों पर उतरने को मजबूर हैं. अखिल भारतीय किसान सभा के बैनर तले सभी किसान साथ आए हैं और आज वो नासिक से मुंबई तक अपना मार्च शुरू करेंगे. आयोजकों का दावा है कि 50 हजार से ज्यादा किसान इस मार्च में हिस्सा ले रहे हैं.

हालांकि मार्च के लिए इकट्ठा हो रहे किसानों ने दावा किया है कि उनके साथियों और नेताओं को राज्य सरकार अलग-अलग जगहों पर रोकने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार नहीं चाहती है कि हम सब मार्च करने के लिए एकजुट हों. फिलहाल किसान नासिक के मुंबई नाका बस स्टॉप पर एकत्रित हैं.

सीपीएम ने अपने ट्वीट के जरीए भी किसानों को रोके जाने की घटनाओं का जिक्र किया.

किसानों की प्रमुख मांगों में सूखा ग्रस्त क्षेत्रों में सिंचाई का प्रबंध, बर्बाद हुए फ़सलों का मुआवज़ा सहित पीड़ित किसान के बच्चों को पेयजल, शिक्षा तथा अन्य सुविधाएं मुहैया कराना है.

आज से शुरू हो रहा किसान मार्च अगले छह दिनों तक चलेगा. यह मार्च 27 फरवरी को मुंबई पहुंचेगा.

बीते साल मार्च में किसानों ने नासिक से मुंबई तक लॉन्ग मार्च किया था. उस समय मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के आश्वासन पर किसान वापस लौट गए थे. एक साल बीत गया है, लेकिन मुख्यमंत्री ने अब तक मांगों को पूरा नहीं किया है. ऐसे में किसान एक बार फिर सड़कों पर उतरने को मजबूर हैं.