पाक के आतंकी ठिकानों पर वायुसेना के हमले के बाद सामने आईं पहली तस्वीरें, कैंप में दिखे अमेरिका और ब्रिटेन के झंडे

पुलवामा हमले के 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। मंगलवार तड़के 3.50 बजे मिराज-2000 लड़ाकू विमानों ने पाक की सीमा में हमला किया। इस हमले में करीब 300 आतंकियों के मारे जाने की खबर है।

नवजीवन के मुताबिक भारतीय वायु सेना की पाकिस्तान पर की गई एयर स्ट्राइक के बाद अब पहली तस्वीर सामने आ गई है। इस हमले में बालाकोट में तबाह किए गए जैश ए मोहम्मद के आतंकी ठिकानों की तस्वीर है। बता दें कि पुलवामा हमले के 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। मंगलवार तड़के 3.50 बजे मिराज-2000 लड़ाकू विमानों ने पाक की सीमा में हमला किया। इस हमले में करीब 300 आतंकियों के मारे जाने की खबर है। जैश ए मोहम्मद के जिन आतंकियों को निशाना बनाया गया, उनमें मुफ्ती अजहर खान,इब्राहिम अजहर, मसूद अजहर का बड़ा भाई, जो आईसी-814 अपहरण में भी शामिल था।

बालाकोट पर हुए हमले में जिन ठिकानों को निशाना बनाया गया अब वहां से लगातार तस्वीरें सामने आ रही हैं। आतंकी इस ठिकाने को हथियार को रखने के लिए इस्तेमाल करते थे। जहां एके 47, हैंड ग्रेनेड्स और बड़ी मात्रा में विस्फोटक रखे थे। इतना ही नहीं बालाकोट के जैश के ठिकाने की सीढ़ियों पर अमेरिका, ब्रिटेन और इजरायल के झंडे के चित्र बने थे। जैश ए मोहम्मद के इस ठिकाने को भारतीय सेना ने पूरी तरह से नेस्तनाबूद कर दिया है।

मंगलवार की सुबह 3.30 बजे के करीब भारतीय वायुसेना के 12 मिराज विमानों ने पीओके के पार जाकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कैंपों पर हमला बोला। यह हमला पूरी तरह से सफल हुआ है। इस हवाई हमले में जैश के सभी आतंकी कैंप नष्ट हो गए। बताया यह भी जा रहा है कि इन कैंपों में लश्कर और हिज्बुल के भी कैंप शामिल थे।

इस हमले के बाद भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया, “बालाकोट का कैंप जैश-ए-मोहम्मद का सबसे बड़ा कैंप था। इसे जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर का साला यूसुफ अजहर संचालित कर रहा था, जो मारा गया है। ऑपरेशन का निशाना खासतौर से आतंकी अड्डे को बनाया गया था, ताकि नागरिकों को नुकसान न हो।