यूपी: मोदी सरकार के खिलाफ बोलने पर मुस्लिम युवक को बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर पीटा, बताया आतंकवादी

मुजफ्फरनगर में टीवी शो की रिकॉर्डिंग के दौरान मोदी सरकार की आलोचना करने पर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने एक मुस्लिम युवक को आतंकी बताकर जमकर पीटा है। इस मामले में पुलिस ने अब तक किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की है।

नवजीवन के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुजफ्फर नगर में एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में मोदी सरकार की आलोचना करने पर एक मुस्लिम युवक को बेरहमी से पीटने का मामला सामने आया है। युवक की बातों से नाराज होकर वहां मौजूद बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उसे आतंकवादी कहते हुए बुरी तरह धुन डाला। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

यह घटना एक टीवी चैनल के शो की रिकॉर्डिंग के दौरान हुई। मिली जानकारी के अनुसार भारत समाचार नाम के चैनल के पत्रकार आगामी लोकसभा चुनाव पर आधारित एक कार्यक्रम के लिए लोगों से मोदी सरकार के कार्यों के बारे में पूछ रहे थे। इसी दौरान बोर्ड का एग्जाम देने मुजफ्फरनगर आए एक मुस्लिम युवक ने मोदी सरकार की बुराई कर दी, जिससे वहां मौजूद बीजेपी कार्यकर्ता नाराज हो गए और उसे पीटने लगे। पीड़ित की पहचान अदनान के रूप में हुई है। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उसे पीटने के दौरान उसे आतंकवादी भी बना डाला।

इस बीच अदनान का भी बयान सामने आया है। सोशल मीडिया पर अपने बयान में उसने कहा, “वहां से गुजरने के दौरान मैंने देखा कि एक टीवी शो की शूटिंग चल रही है तो मैं भी उसमें शामिल हो गया। इस दौरान मोदी सरकार के कामों के बारे में पूछने पर मैंने जैसे ही सरकार की आलोचना की तो वहां मौजूद बीजेपी के लोग मुझे आतंकवादी बताने लगे और इसके बाद उन्होंने मुझे पीटना शुरू कर दिया।” अदनान ने साथ ही कहा कि पुलिस ने अभी तक किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। अदनान ने कहा कि उसे इसलिए उनलोगों ने मारा क्योंकि वह एक मुस्लिम है और उसने बीजेपी के खिलाफ बोला।

इस बीच क्वींट ने वहां मौजूद न्यूज चैनल के पत्रकार प्रताप से बातचीत के आधार पर बताया है कि टीवी शो की रिकॉर्डिंग 11 बजे मुजफ्फरनगर में शुरू हुई थी, जिसमें कई दलों के नेता और उनके समर्थक शामिल थे। उन्होंने कहा कि जब तक बीजेपी के नेता बोल रहे थे तब तक सब कुछ ठीक था, लेकिन जैसे ही कोई विपक्षी पार्टी का नेता बोल रहा था तो बीजेपी के कार्यकर्ता मोदी-मोदी चिल्लाना शुरू कर देते थे।

क्वींट के अनुसार प्रताप ने बताया, “कार्यक्रम के दौरान वहां अदनान नाम का एक छात्र भी मौजूद था। मैंने उससे क्षेत्र में रोजगार और शिक्षा को लेकर सवाल पूछा। उसने जैसे ही बोलना शुरू किया, बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उसे रोकना शुरू कर दिया। अदनान ने जैसे ही मोदी सरकार की आलोचना करते हुए 3-4 लाइनें बोलीं तभी बीजेपी के लोगों ने उसे पीटना शुरू कर दिया। इसके बाद उसके चेहरे से खून निकलने लगा। वह जान बचाने के लिए भागने की कोशिश करने लगा। हमने और आरएलडी के कार्यकर्ताओं ने उसे किसी तरह भीड़ से बचाया।

प्रताप ने कहा कि शो के लिए हमने कोई भी एजेंडा तय नहीं किया था। उन्होंने कहा कि वे बार-बार बीजेपी कार्यकर्ताओं को बताने की कोशिश कर रहे थे की कि सभी को बोलने का अधिकार है और ये किसी पार्टी का मंच नहीं है। अगर लोग अपनी समस्याओं को सभी के सामने रखना चाहते हैं तो उन्हें नहीं रोक सकते हैं।