मौजूदा एनएसए डोभाल ने आतंकी मसूद को छोड़ने में निभाया था अहम रोल, शहीदों के परिजनों को बताएं पीएम मोदी : राहुल

राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी सीआरपीएफ के शहीद जवानों के परिजनों को बताएं कि आपके मौजूदा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने आंतकी मसूद अजहर को छोड़ने के लिए सौदा करवाया था, और वही हत्यारे को वापस पाकिस्तान को सौंपने के लिए कंधार गए थे।

नवजीवन के मुताबिक पुलवामा आतंकी हमले में शहीद जवानों और ‘एयर स्ट्राइक’ पर राजनीति कर रहे पीएम मोदी और बीजेपी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बड़ा हमला बोला है। कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा, “पीएम मोदी मेहरबानी करके सीआरपीएफ के उन 40 शहीद जवानों के परिजनों को बताएं कि हत्यारे आतंकी अजह मसूद को किसने छोड़ा?”

राहुल गांधी ने ट्वीट में आगे लिखा, “पीएम मोदी शहीद जवानों के परिजनों को यह भी बताएं कि आपके मौजूदा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने आंतकी मसूद अजहर को छोड़ने के लिए सौदा करवाया था, और वही हत्यारे को वापस पाकिस्तान को सौंपने के लिए कंधार गए थे।

राहुल गांधी ने ट्वीट के साथ एक तस्वीर भी शेयर की है। तस्वीर में मौजूदा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल कंधार एयरपोर्ट पर दिख रहे हैं। डोभाल के पास ही आतंकी मसूद अजहर भी दिख रहा है।

इससे पहले शनिवार को कनार्टक के हावेरी में जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि पीएम मोदी, उनके मंत्री और बीजेपी नेता आतंकवाद पर बड़ी-बड़ी बातें कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी शहीदों पर राजनीति कर रही है। राहुल ने कहा कि कुछ दिन पहले सीआरपीएफ के जवान शहीद हुए थे। पीएम मोदी से छोटा सा सवाल है कि सीआरपीएफ के यह जवान किसकी वजह से शहीद हुए। जैश के चीफ का नाम किया है? क्या यह सच नहीं है कि बीजेपी की सरकार ने ही जैश के सरगना मसूद अजहर को हिंदुस्तान की जेल से छोड़ा था।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पीएम मोदी यह बताएं कि जैश के सरगना मसूद अजहर को अफगानिस्तान में ले जाकर किसने छोड़ा। राहुल गांधी ने कहा कि मौजूदा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के पोस्टर आज भी कंधार में मसूद अजहर के साथ लगे हुए हैं। राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी हम आप जैसे नहीं हैं, हम आपकी तरह आतंकवाद के सामने नहीं झुकते हैं।