15 साल पहले रविवार को हुआ था लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान, पढ़ें डेढ़ दशक का इतिहास

लोकसभा चुनाव 2019: के लिए चुनाव आयोग ने तारीखों का ऐलान कर दिया है। 15 साल बाद एक बार फिर रविवार को ही इसकी घोषणा की गई है।

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए चुनाव आयोग तारीखों का ऐलान कर दिया है। इस बार 11 अप्रैल से शुरू होकर 19 मई तक मतदान चलेगा। 23 मई को नतीजे घोषित किए जाएंगे। इस बार सात चरणों में चुनाव आयोजित होंगे। मतदान का पहला चरण 11 अप्रैल, दूसरा चरण 18 अप्रैल, तीसरा चरण 23 अप्रैल, चौथा चरण 29 अप्रैल, पांचवा चरण 6 मई, छठा चरण 12 मई और सातवां चरण 19 मई को होगा।

ये है 15 साल का चुनावी इतिहासः 15 साल बाद एक बार फिर रविवार को ही इसकी घोषणा की गई है। इत्तेफाक है कि तब भी एनडीए की ही सरकार थी। मौजूदा लोकसभा का कार्यकाल 3 जून को खत्म होगा।

2004: चुनाव आयोग ने तब 29 फरवरी को लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान किया था। तब पहले 20 अप्रैल से 10 मई तक चार चरणों में मतदान हुआ था। इस चुनाव में यूपीए ने वापसी की थी और मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री बनाया गया था।

2009: EC ने 2 मार्च के दिन चुनाव की तारीख का ऐलान किया था। उस साल पांच चरणों में चुनाव हुए थे। मतदान 16 अप्रैल से 13 मई तक चला था। इस चुनाव में एक बार फिर यूपीए की सरकार बनी और फिर से प्रधानमंत्री पद पर डॉक्टर मनमोहन सिंह की वापसी हुई।

2014: मोदी लहर वाले इस चुनाव में नौ चरणों में चुनाव हुए थे। 2014 में चुनाव आयोग ने 5 मार्च को तारीखों का ऐलान किया था। तब 7 अप्रैल से 12 मई तक मतदान हुआ था और 16 मई को नतीजे आए थे। इस बार बीजेपी के नेतृत्व वाले NDA को शानदार जीत मिली थी। बीजेपी ने अकेले अपने दम पर ही बहुमत के आंकड़े को पार किया था। 30 साल बाद किसी एक पार्टी को लोकसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत मिला था। इस चुनाव के बाद 26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने थे।