अजीत डोभाल ने मसूद अजहर को दी थी क्‍लीन चिट: कांग्रेस का दावा

कांग्रेस पार्टी ने दावा किया कि डोभाल ने दो दशक पहले कांधार विमान अपहरण कांड में जैश ए मुहम्मद के सरगना मसूद को रिहा करने के लिए भाजपा-सरकार को दोषी ठहराया था। यही नहीं, कांग्रेस का दावा है कि डोभाल ने इस साक्षात्कार में जैश सरगना को क्लीन चिट भी दी थी।
कंधार विमान अपहरण: कांग्रेस ने डोवाल के इंटरव्यू के जरिए भाजपा पर साधा निशाना
blockquote>जनसत्ता ऑनलाइन के अनुसार पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड आतंकवादी मसूद अजहर को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच वाकयुद्ध छिड़ा हुआ है। इसी बीच कांग्रेस ने सत्तारूढ़ दल पर हमला करने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के 2010 के एक साक्षात्कार का सहारा लिया है। पार्टी ने दावा किया कि डोभाल ने दो दशक पहले कांधार विमान अपहरण कांड में जैश ए मुहम्मद के सरगना मसूद को रिहा करने के लिए भाजपा-सरकार को दोषी ठहराया था। यही नहीं, कांग्रेस का दावा है कि डोभाल ने इस साक्षात्कार में जैश सरगना को क्लीन चिट भी दी थी।

थिंक टैंक ‘विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन’ की वेबसाइट पर प्रकाशित डोभाल के साक्षात्कार का स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘अजीत डोभाल ने कहा था कि मसूद अजहर को रिहा करना एक राजनीतिक फैसला था। सवाल: यह किसका राजनीतिक फैसला था? उत्तर: भाजपा सरकार का। तो क्या अब मोदी जी, रविशंकर प्रसाद इस राष्ट्र विरोधी फैसले की जिम्मेदारी लेंगे?’

सुरजेवाला का कहना है डोभाल ने अपने साक्षात्कार में आतंकवाद से निपटने के लिए कांग्रेस-यूपीए की “राष्ट्रवादी नीति” की सराहना की है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस इंटरव्यू में डोभाल ने कहा था कि मसूद अजहर को आइईडी बनाना नहीं आता है। वह निशानेबाज भी नहीं है। मसूद अजहर की रिहाई के बाद जम्मू कश्मीर में पर्यटन में 200 फीसद की बढ़ोतरी हुई है।

जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख को “मसूद अजहर जी” के रूप में संदर्भित करने के बाद कल कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी को भाजपा ने निशाना बनाया था। राहुल गांधी ने दिल्ली में एक पार्टी समारोह में कहा, “आप मसूद अजहर को याद कर सकते हैं। 56 इंच के लोगों की पिछली सरकार के दौरान, आज के एनएसए (राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार) अजीत डोभाल मसूद अजहर जी के साथ एक विमान में गए और उन्हें सौंप दिया।”

बता दें मसूद के साथ मुश्ताक अहमद जरगर और अहमद उमर सईद शेख को भी रिहा किया गया था। इन आतंकियों को आइसी-814 फ्लाइट के यात्रियों के बदले छोड़ा गया था जिसे आतंकी हाइजैक कर कांधार ले गए थे।