मोदी का महा गठबंधन: एनडीए में अब तक शामिल हुईं 36 राजनीतिक पार्टियां

बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए गठबंधन में घटक दलों की संख्या बढ़कर 36 हो गई है. चुनाव से ठीक पहले बीजेपी ने उत्तर पूर्व में एजीपी और बोडो पीपुल्स फ्रंट के साथ, झारखंड में ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (एजेएसयू) और तमिलनाडु में डीएमके साथ गठबंधन किया है.

असम में एजीपी नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में एनडीए से अलग हो गई थी. लेकिन एक बार फिर वह एनडीए के साथ है.

बीजेपी के महासचिव भूपेन्द्र यादव कहते हैं कि एनडीए के साथ अबतक 36 घटक दल आ चुके हैं.

पार्टी के महासचिव और पूर्वोत्तर के प्रभारी राम माधव की इस क्षेत्र में गठबंधन को रूप देने में बड़ी भूमिका रही है. वह कहते हैं कि नरेन्द्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने में इस क्षेत्र का बड़ा योगदान होगा.

क्षेत्रीय दलों को साधने के लिए बीजेपी कई जगहों पर समझौते भी कर रही है. झारखंड में गिरिडीह सीट एजेएसयू के लिए छोड़ रही है. यहां से एजेएसयू के अध्यक्ष एनडीए उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं.

अटल बिहारी वाजपेयी के जमाने में एनडीए-1 में 24 घटक पार्टियां थीं.

लोकसभा चुनाव को लेकर जहां कांग्रेस उत्तर प्रदेश में बीएसपी और एसपी के साथ गठबंधन नहीं कर पाई है. वहीं दिल्ली में आम आदमी पार्टी नेता अरविंद केजरीवाल के अनुरोध के बाद भी गठबंधन पर मुहर नहीं लग पाई है. पश्चिम बंगाल में वाम दलों के साथ गठबंधन तय होने के बावजूद भी आधिकारिक घोषणा नहीं हो पाई है.

बीजेपी आम चुनाव में गठबंधन के मामले में आगे निकलती मालूम पड़ती है.

महाराष्ट्र में शिव सेना, बिहार में जेडीयू, पंजाब में अकाली दल और तमिलनाडु में एआईएडीएमके एनडीए के मुख्य घटक हैं.

साभार: NewsPlatform