छत्तीसगढ़: देश के चंद उद्योगपतियों के लिए है आयुष्मान भारत योजना, राहुल गांधी का पीएम मोदी पर हमला

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी की बहुचर्चित स्कीम आयुष्मान भारत की आलोचना की। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत स्कीम में काफी निश्चित मुद्दों को टारगेट किया गया है। इसका सीधा फायदा देश के 15-20 उद्योगपतियों को पहुंचाया जा रहा है।

नवजीवन के मुताबिक छत्तीसगढ़ के रायपुर में स्वास्थ्य पेशेवरों से राहुल गांधी ने संवाद करते हुए कहा, “मैं स्वास्थ्य सेवाओं में निजीकरण का विरोधी हूं।” उन्होंने आगे कहा, “स्वास्थ्य के लिए पूरा का पूरा नेटवर्क बनाना पड़ेगा। हेल्थ पर हमारे पास कुछ अच्छे मॉडल हैं। हेल्थ और पढ़ाई पर कांग्रेस का फोकस रहेगा।”

उन्होंने कहा कि हेल्थकेयर और शिक्षा के क्षेत्र में प्राइवेट नहीं बल्कि पब्लिक सेक्टर को बढ़ावा मिलना चाहिए। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि ऐसा नहीं है कि वह प्राइवेट सेक्टर का विरोध कर रहे हैं लेकिन पब्लिक सेक्टर को भी बढ़ावा दिए जाने की जरूरत है।” स्वास्थ्य सेवाओं के विशेषज्ञों से राहुल गांधी ने कहा, “मेरे पास सब सवालों के जवाब नहीं हैं। मैं आपसे सुनकर समझकर काम करना चाहता हूं। आप लोग इस फील्ड से हैं। मेरे पास परिकल्पना है।”

इस दौरान राहुल गांधी ने पीएम मोदी की बहुचर्चित स्कीम आयुष्मान भारत की आलोचना की। उन्होंने कहा, “आप इंश्योरेंस दे रहे हो, लेकिन अस्पतालों में बुनियादी सुविधाएं नहीं हैं। आयुष्मान भारत स्कीम में काफी निश्चित मुद्दों को टारगेट किया गया है। इसका सीधा फायदा देश के 15-20 उद्योगपतियों को पहुंचाया जा रहा है।” कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि छत्तीसगढ़ कांग्रेस सरकार द्वारा लोगों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर शुरू की गई यूनिवर्सल हेल्थकेयर योजना एक अच्छा उदाहरण साबित होगी।

उन्होंने रायपुर में हेल्थकेयर पेशेवरों के साथ बातचीत के दौरान कहा कि असल में हेल्थकेयर एक तरह से नींव है। इसलिए हमें यह सुनिश्चित करना है कि नींव मजबूती से बने। 2019 में कांग्रेस सरकार उस राशि को बढ़ाने जा रही है जिसे स्वास्थ्य सेवा और शिक्षा में लगाया जाएगा।

राहुल गांधी ने इसके साथ ही एक बड़ा ऐलान भी किया। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव के मेनिफेस्टो में राइट टू हेल्थकेयर एक्ट लाने पर विचार कर रही है। इसके अलावा हेल्थकेयर को मिलने वाले बजट को बढ़ावा देना और प्रोफेशनल्स की संख्या में बढ़ोतरी करना उनका लक्ष्य है।

बता दें कि छत्तीसगढ़ दौरे पर राहुल गांधी ने हेल्थकेयर फील्ड के एक्सपर्ट्स से बात की, इस दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत राज्य के अन्य नेता भी मौजूद थे.