जेल जाने से बचने के लिए आरकॉम के मालिक अनिल अंबानी ने चुकाए 462 करोड़ रुपए

अदालत ने अनिल अंबानी की कंपनी आरकॉम के दो डायरेक्टरों को आदेश दिया था कि वे 4 हफ्तों के भीतर एरिक्सन को 450 करोड़ रुपये का भुगतान करें या फिर तीन महीने के लिए जेल जाएं।

जनसत्ता ऑनलाइन के मुताबिक टेलिकॉम इक्विपमेंट बनाने वाली दिग्गज स्विडिश कंपनी एरिक्सन ने कहा है कि उसे कारोबारी अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्यूनिकेशंस लिमिटेड से 462 करोड़ रुपये मिले हैं। बता दें कि पिछले महीने ही सुप्रीम कोर्ट ने अनिल अंबानी की कंपनी आरकॉम और उसके दो डायरेक्टरों को आदेश दिया था कि वे 4 हफ्तों के अंदर एरिक्सन को 450 करोड़ रुपये का भुगतान करें या फिर न्यायालय की अवमानना के लिए तीन महीने के लिए जेल जाएं। आरकॉम पर एरिक्सन का कुल 571 करोड़ रुपये का बकाया है। इनमें वन टाइम सेटलमेंट के तौर पर 550 करोड़ रुपये जबकि ब्याज के रकम के भुगतान के तौर पर 210 करोड़ रुपये की रकम शामिल है।

पिछले महीने 20 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने अनिल अंबानी को जानबूझकर आदेश का उल्लंघन करने और एरिक्शन को बकाए का भुगतान न करके अदालत की अवमानना का दोषी पाया था। इससे पहले, कोर्ट में हुई जिरह के दौरान एरिक्सन इंडिया ने आरोप लगाया था कि अनिल अंबानी के रिलायंस ग्रुप के पास राफेल सौदे में निवेश करने के लिए रकम है, लेकिन बकाया भुगतान करने के लिए नहीं। वहीं, अनिल अंबानी ने अदालत को बताया था कि बड़े भाई मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस जियो के साथ सौदा फेल होने के बाद उनकी कंपनी दिवालिया घोषित होने के लिए कार्यवाही कर रही है।