अयोध्या केस में मुस्लिमों का पक्ष रखने पर वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव धवन को मिल रहीं धमकी

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव धवन को अयोध्या मामले में मुस्लिमों का पक्ष रखने पर धमकी दी जा रहीं हैं। वरिष्ठ अधिवक्ता ने इनसे तंग आ कर सुप्रीम कोर्ट में आपराधिक अवमानना का केस दाखिल किया है।
उन्होंने बताया कि उन्हें एक पत्र मिला है और व्हाट्सएप्प मैसेज भी प्राप्त हुए हैं जो धमकी भरे हैं। उन्हें 88 साल के प्रोफेसर द्वारा कथित रूप से लिखे गए पत्र में पूछा गया कि धवन मुस्लिमों की ओर से "उनके विश्वास को धोखा" कैसे दे सकते हैं?अयोध्या केस: मुस्लिम पक्ष के वकील को मिला धमकी भरा पत्र, लिखा- ‘शर्म करो…तुम धरती पर बोझ हो’ वरिष्ठ वकील राजीव धवन को अयोध्या मामले में मुस्लिम पक्षकार के पेश होने को लेकर धमकी भरा पत्र मिला है. धवन ने पत्र लिखने वाले प्रो एन षणमुगम के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट से कोर्ट की अवमानना की कार्रवाई की मांग की. पत्र में लिखा है ‘धवन को शाप लगेगा!’ पत्र में लिखा है- “जल्द ही भगवान तुम्हे सजा देगा, तुम्हारी आंखे फूट जाएं, तुम्हारी जीभ काम करना बंद कर देगी, तुम्हारी टांगे खराब हो जाए, तुम्हारे कान खराब हो जाएं. तुम धरती पर बोझ हो. शर्म करो.” अयोध्या में बढ़ाई गई सुरक्षा संभावित आतंकी हमले की खुफिया सूचनाओं के बाद अयोध्या में सुरक्षा को और बढ़ा दिया गया है. सूत्रों के अनुसार, पुलिस महानिदेशक (DGP) के कार्यालय ने बरेली, कानपुर और प्रयागराज क्षेत्रों के अतिरिक्त निदेशक जनरलों (ADG) से 100 कांस्टेबलों की पहचान करने के लिए कहा है, जो ‘सुयोग्य, ईमानदार और स्वच्छ छवि वाले’ हों. डीजीपी कार्यालय ने ADG से यह भी सुनिश्चित करने को कहा है कि चयनित पुलिसकर्मी अयोध्या के निवासी न हों. ये कांस्टेबल आगामी एक साल तक अयोध्या में प्रमुख मंदिरों के आसपास तैनात रहेंगे. सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले में प्रतिदिन हो रही सुनवाई के मद्देनजर क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ाई जा रही है. इसके साथ ही कश्मीर में अनुच्छेद 370 को रद्द करने को लेकर पाकिस्तान और आतंकी संगठनों से बढ़ते खतरे को ध्यान में रखते हुए भी यह फैसला लिया गया है/span>
वरिष्ठ अधिवक्ता का कहना है कि उन्हें एक वकील की हैसियत से उनकी ज़िम्मेदारियों को निभाने से रोकने की कोशिश हो रही है। साभार:लाइव लॉ की रिपोर्ट