अखबारनामा

अख़बार नामा: सरकार ने जो सलाह टीवी चैनलों को दी, उसे न प्रधानमंत्री ने माना और न अखबारों ने

संजय कुमार सिंह पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद मोदी सरकार ने टीवी चैनलों से कहा – ऐसी कवरेज मत करिए कि हिंसा भड़क उठे। पुलवामा में आतंकी हमले की कवरेज को लेकर सूचना एवं प्रसारण […]

देश

विचारणीय मुद्दा: पुलवामा हमले के बाद कश्मीर के असली मुद्दे को फिर नज़रअंदाज़ किया जा रहा है

आलोक अस्थाना आख़िर क्यों स्थानीय कश्मीरी, जो अपेक्षाकृत रूप से पढ़े-लिखे और संपन्न हैं, इस तरह अपनी जान दांव पर लगाने को तैयार हो जाते हैं? पुलवामा में 14 फरवरी को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल […]

नज़रिया

विचारणीय मुद्दा: कश्मीर में आतंकवाद पर मोदी सरकार की नाकामियां तो जग-जाहिर हैं

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले में लगभग 40 सीआरपीएफ जवानों की मौत ने देश को झकझोर दिया है. उचित ही है कि सत्ता पक्ष और विपक्ष के दलों और नेताओं […]

अखबारनामा

अख़बार नामा: मायावती ने भाजपा व कांग्रेस पर सरकारी आतंक फैलाने का आरोप लगाया, अखबारों ने नहीं दी जगह

संजय कुमार सिंह हिन्दी अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह नहीं दी बसपा प्रमुख मायावती ने गुरुवार को एक ट्वीट कर मध्य प्रदेश की कांग्रेस व उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर सरकारी आतंक फैलाने […]

अखबारनामा

अख़बार नामा: राफेल पर सीएजी रिपोर्ट के बहाने अख़बार कर रहे सरकार की सेवा

संजय कुमार सिंह नभाटा सबसे बेशर्म, हिन्दुस्तान ने खबर छापने की औपचारिकता भर निभाई है रफाल पर सीएजी की रिपोर्ट कल संसद में पेश की गई और आज इसकी खबर सभी अखबारों में पहले पन्ने […]

अखबारनामा

अख़बार नामा: ख़बर नहीं बस ख़बरों के नाम पर अख़बार छपता है, हिन्दुस्तान छपता है…रवीश कुमार ने आज फिर ली ‘हिंदुस्तान’ की क्लास!

रवीश कुमार ख़बर नहीं बस ख़बरों के नाम पर अख़बार छपता है, हिन्दुस्तान छपता है… गर्त इतना गहरा हो गया है कि बात में तल्ख़ी और सख़्ती की इजाज़त मांगता हूं। आप आज का हिन्दुस्तान […]

नज़रिया

बजट 2019 को ‘प्रधानमंत्री व्यग्र-व्याकुल योजना’ कहें, तो गलत नहीं होगा

मोदी सरकार में योजनाओं के तरह-तरह के नाम रखे जाते हैं. ऐसे में जो 2019 का ‘चुनावी बजट’ है, इसे प्रधानमंत्री व्यग्र-व्याकुल वोट प्राप्ति योजना का नाम दिया जा सकता है. सरकार ने इस बजट […]

नज़रिया

वरिष्ठ पत्रकार विनीत नारायण को डॉ सुब्रमनियन स्वामी के साथी ने दी मरवाने की धमकी

भड़ास4मीडिया पर प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से कुछ बुनियादी विनम्र प्रश्न पूछने पर डॉ सुब्रमनियन स्वामी के एक सहयोगी ने आसाम से ट्वीटर पर वरिष्ठ पत्रकार विनीत नारायण को जान से […]

नज़रिया

प्रधानमंत्री को झूठ नहीं बोलना चाहिए- रवीश कुमार

Ravish Kumar : प्रधानमंत्री को झूठ नहीं बोलना चाहिए, इतना भी नहीं कि हँसी भी न आए… कौन मानता है इस देश में कि लूट सौ फ़ीसदी ख़त्म हो गई है। प्रधानमंत्री ने एक क़ानून […]

नज़रिया

पड़ताल: क्या कुंभ में करोड़ों लोगों के आने-नहाने का दावा झूठा है?

शासन प्रशासन प्रत्येक स्नान पर स्नाननार्थियों का एक आंकड़ा जारी करता है जो करोड़ों में होता है, पर स्थिति क्या है ये स्थानीय (प्रयागराज वासी) सहित बाहरियों को भी पता है। हां, सुरक्षा व्यवस्था की बात करें तो अब तक कुंभ क्षेत्र में लगभग 5 से 6 बार आग लग चुकी है जिसमें कई पंडाल जलकर स्वाहा हो गए, स्थिति ठीक है कि कोई हताहत नहीं हुआ, सुविधाओं का ये आलम है कि शौचालय है तो पानी नहीं, पानी है तो शौचालय इतनें गंदे पड़े हैं कि आप उपयोग में ही नहीं ले सकते। […]